Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. बिहार के वरिष्ठ IAS अधिकारी ने मीटिंग में अफसरों के साथ की गाली-गलौज, वीडियो हुआ वायरल

बिहार के वरिष्ठ IAS अधिकारी ने मीटिंग में अफसरों के साथ की गाली-गलौज, वीडियो हुआ वायरल

बिहार के एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी केके पाठक का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें वह राज्य सरकार के अफसरों के साथ गाली-गलौज करते हुए नजर आ रहे हैं. वीडियो के सामने आने के बाद बिहार प्रशासनिक सेवा संघ ने मुख्य सचिव से शिकायत की है। बिहार प्रशासनिक सेवा संघ के महासचिव सुनील तिवारी ने केके पाठक को मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया और तुरंत कार्रवाई की मांग की।

By रुचि उपाध्याय 

Updated Date

Patna news: बिहार के एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी केके पाठक का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें वह राज्य सरकार के अफसरों के साथ गाली-गलौज करते हुए नजर आ रहे हैं. वीडियो के सामने आने के बाद बिहार प्रशासनिक सेवा संघ ने मुख्य सचिव से शिकायत की है। बिहार प्रशासनिक सेवा संघ के महासचिव सुनील तिवारी ने केके पाठक को मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया और तुरंत कार्रवाई की मांग की।

पढ़ें :- अभिनेत्री दीप्ति नवल ने मस्जिद विवाद पर दिया चौकाने वाला बयान, कहा – उन्हें पुराना मंदिर ही पसंद था

केके पाठक सिर्फ अधिकारियों पर ही गुस्सा नहीं उतारते हैं, बल्कि बिहार के लोगों पर भी गुस्सा उतारते हैं. कहते हैं कि बिहार के लोग रेड लाइट पर भी हॉर्न बजाते हैं. केके पाठक गाली देकर कहते हैं कि कभी देखे हो, चेन्नई में लालबत्ती पर हॉर्न बजाते हुए. यहां के लोगों को कोई समझ नहीं है. केके पाठक ने एक डिप्टी कलेक्टर को गाली देते हुए कहा कि यहां के अधिकारी भी वैसे ही हैं. एक अधिकारी को निर्देश देते हुए कहते हैं कि मुझे लिख कर दो कि मैं मां-बहन एक करता हूं. वीडियो में एक अधिकारी माफी मांगता हुआ दिखता है, लेकिन केके पाठक हैं कि बिहार का एडमिस्ट्रेशन बेकार है.

इस मामले पर केके पाठक ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि अधिकारियों के साथ कुछ मुद्दा था. हां, बैठक में मैंने अपना आपा खोया, लेकिन किसी के प्रति कोई दुर्भावना नहीं है.

वीडियो वायरल होने के बाद बिहार एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस एसोसिएशन (बासा) के अध्यक्ष सुनील तिवारी ने कड़ा रिएक्शन दिया है. सुनील तिवारी ने कहा कि केके पाठक को सरकार जल्द से जल्द बर्खास्त करे. वह विक्षिप्त हो गए हैं. सुनील तिवारी ने कहा कि यह मद्य निषेध विभाग के सचिव होने के साथ-साथ विपार्ड के भी प्रभार पर हैं और ट्रेनिंग के दौरान यह बिहार के अधिकारियों को परेशान करते हैं. इस दरमियान एक अधिकारी की मौत भी हो चुकी है. हम लोग लगातार इस मसले को उठाते रहे हैं कि यह बहुत ही गंदे तरीके से बातचीत करते हैं और मानसिक तनाव देते हैं. इस वीडियो को लेकर हमारे तमाम अधिकारी गुस्से में हैं. हम इस पर जल्द से जल्द एक्शन लेने वाले हैं. फिलहाल, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और मुख्य सचिव से आग्रह है कि इन पर एक्शन लिया जाए. नहीं तो बिहार एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस एसोसिएशन इस पर आगे निर्णय लेने को बाध्य होगा नहीं तो, हम लोगों को सड़क पर उतरना होगा.

पढ़ें :- UP : अज्ञात कारणों के चलते BSNL टॉवर के कर्मचारी ने लगाई फ़ासी, परिजनों में कोहराम
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com