Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. नए संसद भवन के उद्घाटन पर भाजपा और विपक्षियों में बढ़ी तकरार

नए संसद भवन के उद्घाटन पर भाजपा और विपक्षियों में बढ़ी तकरार

नया संसद भवन बनकर तैयार हो चुका है। इसको लेकर कई विपक्षी दल बायकॉट की तैयारी में है। 28 मई को खुद पीएम मोदी इसका उद्घाटन करने जा रहे हैं।

By Avnish 

Updated Date

नई दिल्ली ।  कई दिनों से संसद भवन बन रहा था जो कि अब तकरीबन पूरा हो चुका है। खुद पीएम मोदी 28 मई को इसका उद्घाटन करने जा रहे हैं। नए संसद भवन का उद्घाटन होगा। लेकिन इस संसद भवन को लेकर विपक्षी पार्टियों में रार देखने को मिल रही है। मतलब की कई विपक्षी पार्टियां ऐसी हैं जो इसे बायकॉट करने जा रही हैं।

पढ़ें :- राहुल गांधी वायनाड से देंगे इस्तीफा, प्रियंका लड़ सकती हैं चुनाव

कांग्रेस ने राष्ट्रपति से रखी उद्घाटन करने की मांग

बता दें कि जैसे ही घोषणा हुई कि पीएम मोदी 28 मई को इस नए संसद भवन का उद्घाटन करेंगे तो ऐसे में ट्वीट का सिलसिला शुरू हो चुका है । राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि नए संसद भवन का उद्धाटन राष्ट्रपति जी को ही करना चाहिए प्रधानमंत्री को नहीं।

इसी के साथ वरिष्ठ सांसद और राज्यसभा में कांग्रेस के पूर्व उप नेता आनंद शर्मा ने कहा है कि पीएम मोदी नए संसद भवन का उद्घाटन करेंगे जो कि संवैधानिक रूप से सही नहीं होगा, सवाल यह खड़ा होता है कि आखिर इसकी जरूरत ही क्या है। किसी भी बड़े लोकतंत्र ने ऐसा नहीं किया है।

बता दें कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने 18 मई को पीएम मीदी को नए संसद भवन का उद्धाटन करने के लिए आमंत्रण दिया था इसी के साथ आनंद शर्मा ने कहा है कि जब संसद भवन का निर्माण हुआ था तब भी राष्ट्रपति को इससे दूर रखा गया था और उद्धाटन के वक्त भी रखा जा रहा है।

पढ़ें :- CWC की बैठक में राहुल गांधी को लोकसभा में नेता विपक्ष बनाने का प्रस्ताव हुआ पारित  

आप ने भी किया विरोध

ना सिर्फ कांग्रेस इसका विरोध कर रही है बल्कि आप सांसद संजय सिंह ने भी ट्वीट करते हुए कहा कि संसद भवन के उद्घाटन समारोह में राष्ट्रपति को ना बुलाकर बीजेपी ने आदिवासियों और पिछले समुदायों का अपमान किया है, इसके साथ ही आप सांसद ने कहा है कि बीजेपी दलित, पिछड़ों और आदिवासियों की  विरोधी है और महामहिम के अपमान की यह दूसरी घटना है।

बात यही नहीं रुकती है इस मामल में एआईएमआई चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी को संसद भवन का उद्घाटन क्यों करना चाहिए? वह कार्यपालिका के प्रमुख विधायिका के नहीं, हमारे पास शक्तियों का बंटवारा है ।लोकसभा स्पीकर और राज्यसभा के सभापति उद्धाटन कर सकते हैं।

टीएमसी ने भी इसका विरोध किया है। इसी के साथ आरजेडी ने भी विरोध किया है । सांसद मनोज झा ने कहा कि क्या ऐसा नहीं होना चाहिए था कि राष्ट्रपति इसका उद्घाटन करतीं। माकपा ने भी इसका विरोध किया है।

पढ़ें :- सत्ता के लिए इंडिया का ऐलान : दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, चंडीगढ़ और गोवा में आप-कांग्रेस मिलकर लड़ेगी चुनाव
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com