1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. सपा राज में चलते थे बम, अब लगते हैं हर-हर बम-बम के नारे – CM योगी

सपा राज में चलते थे बम, अब लगते हैं हर-हर बम-बम के नारे – CM योगी

उन्होंने कहा कि जलेसर का घंटा जब देश के साथ बजता है तो देवध्वनि तो करता ही है साथ में जलेसर को भी एक पहचान दिलाता है।

By Ujjawal Mishra 
Updated Date

UP Election 2022 : मुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहा कि सबको सुरक्षा, सबको सम्मान, गरीब के चेहरे पर खुशहाली, हर युवा को रोजगार और हर अन्नदाता किसान का सम्मान हमारा उद्देश्य है। उन्होंने मतदाताओं से कहा कि भाजपा को जिताएंगे तो अगली सरकार भी माफिया पर बुल्डोजर चलाएगी और साथ में विकास भी करेगी।

पढ़ें :- UP News: CM योगी आदित्यनाथ समेत 16 मंत्री करेंगे 20 देशों का दौरा,अंतर्राष्ट्रीय शहरों में निवेशकों से करेंगे मुलाक़ात

सपा सरकार में बाजारों में चलता था बम

आदित्यनाथ ने एटा जिले के जलेसर में चुनावी जनसभा में कहा कि सपा सरकार में बाजारों में बम चलता था। व्यापारियों को लूटा जाता था, बेटियां स्कूल नहीं जा पाती थीं, बात-बात पर कर्फ्यू लगता था, दंगे होते थे। उन्होंने कहा कि अब कर्फ्यू नहीं कावड़ यात्रा निकलती है। बमबाजी नहीं होती बल्कि हर-हर बम-बम की नारेबाजी होती है। आपने देखा होगा कि पिछली सरकार में और इस सरकार में कितना फर्क है। उन्होंने कहा कि जलेसर का घंटा जब देश के साथ बजता है तो देवध्वनि तो करता ही है साथ में जलेसर को भी एक पहचान दिलाता है।

सीएम योगी ने कहा कि 1857 के प्रथम स्वतंत्र समर में इस जिले ने अग्रणी भूमिका का निर्वहन किया था। लगातार यहां के क्रांतिकारी भारत माता की स्वाधीनता के लिए जूझते रहे, लेकिन इसे विडंबना ही कहा जाएगा जिस जिले ने देश की स्वाधीनता की लड़ाई में अग्रणी भूमिका निभाई हो, उस जिले में आजादी के 70 वर्षों बाद उच्च चिकित्सा संस्थान स्थापित हो। आज आप सब को बताते हुए खुशी हो रही है कि हमारी सरकार ने वीरांगना अवंती बाई के नाम पर एक मेडिकल कॉलेज का निर्माण एटा में किया है।

2017 के पहले इस जिले में अपराध और अराजकता का बोलबाला था

पढ़ें :- सीएम योगी का मथुरा दौरे का दूसरा दिन, भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति-भाव से की पूजा अर्चना

योगी ने कहा कि 2017 के पहले इस जिले में सत्ता के संरक्षण में अपराध और अराजकता का बोलबाला था। आपने 2017 के बाद देखा होगा कि सरकार ने एटा के कुख्यात अपराधियों पर बुलडोजर चलवाया और उनकी संपत्ति भी जब्त की। मुख्यमंत्री के यह कहते ही उपस्थित जनसमूह ने करतल ध्वनि के साथ योगी-योगी की नारेबाजी शुरू कर दी। मुख्यमंत्री ने पूछा कि क्या इससे पहले कभी माफिया के पर बुलडोजर चलता था ? यह बुलडोजर चलना चाहिए ? कौन चलाएगा ? सामने से योगी-योगी का नारा लगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यही तो मैं कहने के लिए आया हूं। सपा रही हो या बसपा, कांग्रेस हो या फिर अन्य वह दल जो दलदल में फंसे हुए हैं, इनके मन में किसान और गरीब के लिए संवेदना नहीं थी। एमएसएमई से जुड़े हुए उद्यमियों के लिए संवेदना नहीं थी। बेटी की सुरक्षा के लिए इनके मन में संवेदना नहीं थी। इनकी संवेदना तो पेशेवर अपराधियों और माफिया के प्रति थी।

कोरोना काल में प्रदेश सरकार ने किया बेहतरीन काम – सीएम योगी

उन्होंने कहा कि याद कीजिए विपक्ष ने किसानों की कर्ज माफी नहीं की। अन्नदाता किसानों के लिए कुछ भी नहीं किया। बेटियों की सुरक्षा के लिए कुछ नहीं किया। गरीबों को मकान नहीं दिया। गरीबों को शौचालय नहीं दिया। स्वास्थ्य की व्यवस्था भी नहीं कर पाए थे। इस सदी की सबसे बड़ी महामारी कोरोना है। कोरोना के सामने दुनिया की बड़ी-बड़ी ताकतें पस्त हो गईं। उत्तर प्रदेश में हमने कोरोना के जिन्न को बोतल में ऐसे बंद कर दिया कि हजारों की संख्या में भीड़ एकत्र है, कोरोना का कहीं अता-पता नहीं। यह होता है कोरोना प्रबंधन। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में फ्री में टेस्ट, फ्री में उपचार और फ्री में वैक्सीन।

पिछली सरकार ने इस क्षेत्र को डार्क जोन घोषित कर दिया था

पढ़ें :- मुख्य समारोह से पहले पूरे अयोध्या जिले में स्वच्छता व सैनिटाइजेशन का विशेष अभियान चलाया जाए: सीएम योगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकार ने इस क्षेत्र को डार्क जोन घोषित कर दिया था। ठाकुर भानु प्रताप सिंह के प्रयासों से सरकार ने काम किया और यह क्षेत्र डार्क जोन से बाहर आ गया। भाजपा के दोनों विधायकों ने किसानों को ट्यूबवेल दिलाने की मांग की थी। खारे पानी की समस्या से भी निजात दिलाने के लिए काम किया जाएगा। अगले पांच वर्षों में पानी की किसी भी प्रकार की समस्या नहीं रहेगी।

हर घर में शुद्ध पेयजल पहुंचाया जाएगा। एटा जिले के 64 हजार किसानों का कर्जा माफ किया था। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ जिले के दो लाख 87 हजार किसानों को मिल रहा है। सपा सरकार ने दिव्यांग और वृद्धजनों की पेंशन रोक दी थी। हमारी सरकार एक करोड़ गरीबों को, एक करोड़ दिव्यांगजन, वृद्धजन और विधवा पेंशन 12 हजार रुपये सालाना दे रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...