Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. G-20ः ग्लोबल बायोफ्यूल्स एलायंस का शुभारंभ, भारत-मध्य पूर्व यूरोप कनेक्टिविटी कॉरिडोर जल्द होगा लॉन्च

G-20ः ग्लोबल बायोफ्यूल्स एलायंस का शुभारंभ, भारत-मध्य पूर्व यूरोप कनेक्टिविटी कॉरिडोर जल्द होगा लॉन्च

भारत मंडपम में चल रही जी-20 समिट में शनिवार को ग्लोबल बायोफ्यूल्स एलायंस का शुभारंभ हुआ। यह भी तय हुआ कि भारत-मध्य पूर्व यूरोप कनेक्टिविटी कॉरिडोर जल्द लांच किया जाएगा।

By Rakesh 

Updated Date

नई दिल्ली। भारत मंडपम में चल रही जी-20 समिट में शनिवार को ग्लोबल बायोफ्यूल्स एलायंस का शुभारंभ हुआ। यह भी तय हुआ कि भारत-मध्य पूर्व यूरोप कनेक्टिविटी कॉरिडोर जल्द लांच किया जाएगा। पीएम नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ब्राजील के राष्ट्रपति लुइज़ इनासियो, अर्जेंटीना के राष्ट्रपति अल्बर्टो फर्नांडीज और इटली के प्रधानमंत्री जियोर्जिया मेलोनी की उपस्थिति में ‘ग्लोबल बायोफ्यूल्स एलायंस’ का शुभारंभ किया।

पढ़ें :- राजस्थान में शाम पांच बजे तक 50.87 प्रतिशत मतदान

इस मौके पर मोदी ने कहा कि भारत-मध्य पूर्व यूरोप कनेक्टिविटी कॉरिडोर जल्द ही लांच किया जाएगा। यह भारत, यूएई, सऊदी अरब, EU, फ्रांस, इटली, जर्मनी और अमेरिका को शामिल करते हुए कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचे को लेकर सहयोग पर एक पहल होगी। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि यह बड़ा समझौता है। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देता हूं।

वन अर्थ, वन फैमिली, वन फ्यूचर G-20 शिखर सम्मेलन का फोकस

वन अर्थ, वन फैमिली, वन फ्यूचर यही G-20 शिखर सम्मेलन का फोकस है। आज मैं उन प्रमुख तरीकों पर प्रकाश डालना चाहता हूं। जिनसे संयुक्त राज्य अमेरिका और हमारे साझेदार इसे वास्तविकता बनाने के लिए काम कर रहे हैं।

जबकि सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने कहा कि हम बैठक में आर्थिक परियोजना को लेकर की गई घोषणा और पहल के एकीकरण की आशा करते हैं। मैं उन लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने इस महत्वपूर्ण आर्थिक कॉरिडॉर की स्थापना के लिए इस संस्थापक कदम तक पहुंचने के लिए हमारे साथ काम किया।

पढ़ें :- राजस्थान में 3 बजे तक 41.51% पड़े मत , सबसे कम करौली में

भारत-मध्य पूर्व-यूरोप आर्थिक कॉरिडोर और वैश्विक बुनियादी ढांचे और निवेश के लिए साझेदारी कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मेरे मित्र राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ मुझे इस आयोजन की अध्यक्षता करते हुए बहुत खुशी हो रही है।

आज हम सबने एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक समझौता संपन्न होते हुए देखा है। आने वाले समय में भारत पश्चिम एशिया और यूरोप के बीच आर्थिक एकीकरण का प्रभावी माध्यम होगा। ये पूरे विश्व में कनेक्टिविटी और विकास को टिकाऊ दिशा प्रदान करेगा।

अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए सबसे गंभीर खतरों में से एक है आतंकवाद

विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने कहा कि जी-20 नेताओं ने आतंकवाद के सभी रूपों और अभिव्यक्तियों की निंदा की और माना कि यह अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए सबसे गंभीर खतरों में से एक है। इस दौरान केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि डिजिटल पब्लिक इंफ्रास्ट्रक्चर को जी20 वित्तीय समावेशन कार्य योजना में भी एकीकृत किया गया है, जो 2024 और 2026 के बीच चलेगा।

जी-20 पर विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि हमारी अध्यक्षता का संदेश ‘वन अर्थ, वन फैमिली, वन फ्यूचर’ है। भारत की अध्यक्षता में आयोजित जी-20 में 20 सदस्य देशों 9 आमंत्रित देशों और 14 अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं ने हिस्सा लिया। हमारे लिए यह संतुष्टि की बात है कि अफ्रीकन यूनियन को आज भारत की अध्यक्षता में जी-20 को स्थायी सदस्यता दी गई।

पढ़ें :- मणिपुर में हिंसाः वोटिंग के दौरान पोलिंग बूथ पर फायरिंग, तीन जख्मी, तोड़ी EVM

 

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com