Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. मोदी सरकार का बड़ा कदम: देश में येल और ऑक्सफोर्ड जैसी विदेशी विश्वविद्यालयों के कैंपस खोलने की तैयारी, UGC से अंतिम मंजूरी के बाद फैसला

मोदी सरकार का बड़ा कदम: देश में येल और ऑक्सफोर्ड जैसी विदेशी विश्वविद्यालयों के कैंपस खोलने की तैयारी, UGC से अंतिम मंजूरी के बाद फैसला

केंद्र ने उच्च शिक्षा में सुधार के तहत विदेशी विश्वविद्यालयों के परिसरों को देश में ही खोलने और विदेशी यूनिवर्सिटियों की डिग्री प्रदान करने की अनुमति देने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है.कई विदेशी यूनिवर्सिटियों को कैंपस खोलने और डिग्री प्रदान करने की अनुमति दी जा सकती है.

By Ruchi Kumari 

Updated Date

केंद्र ने उच्च शिक्षा में सुधार के तहत विदेशी विश्वविद्यालयों के परिसरों को देश में ही खोलने और विदेशी विश्वविद्यालयों की डिग्री प्रदान करने की अनुमति देने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है जिसके तहत येल, ऑक्सफोर्ड और स्टैनफोर्ड जैसी यूनिवर्सिटी को भारत में अपने कैंपस खोलने और डिग्रियां प्रदान करने की अनुमति दी जा सकती है. इससे विदेश जा सकने में अक्षम छात्रों को देश में ही रहकर विदेशी यूनिवर्सिटीज की शिक्षा प्राप्त करने का मौका मिलेगा.वहीं विदेशी यूनिवर्सिटीज के लिए भी भारत में मौके बढ़ेंगे. साथ ही इन यूनिवर्सिटी के भारत आने से अन्य देशों के छात्रों के लिए भी पसंद के तौर पर उभर सकता है.

पढ़ें :- केरल के पत्रकार सिद्दीकी कप्पन लखनऊ जेल से हुए रिहा, 28 महीने बाद मिली जमानत

यूजीसी ने ड्राफ्ट तैयार किया

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग(UGC) ने गुरुवार को सार्वजनिक प्रतिक्रिया के लिए एक ड्राफ्ट पेश किया जो पहली बार देश में विदेशी संस्थानों के प्रवेश और संचालन की सुविधा चाहता है. मसौदे के मुताबिक, स्थानीय परिसर घरेलू और विदेशी छात्रों के लिए प्रवेश मानदंड, शुल्क संरचना और छात्रवृत्ति पर फैसला कर सकता है. संस्थानों को फैकल्टी और स्टाफ की भर्ती करने की स्वायत्तता होगी.

उच्च शिक्षा को मिलेगा अंतरराष्ट्रीय आयाम

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने कहा कि भारत में विदेशी विश्वविद्यालयों के प्रवेश की अनुमति देने वाला ड्राफ्ट देश में उच्च शिक्षा को एक अंतरराष्ट्रीय आयाम प्रदान करेगा, जिससे भारतीय छात्र सस्ती कीमत पर विदेशी योग्या प्राप्त करने में सक्षम हो पाएंगे. इसके साथ ही यह ड्राफ्ट भारत को एक आकर्षक वैश्विक अध्ययन गंतव्य बनाएगा. यूजीसी द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (भारत में विदेशी उच्च शिक्षा संस्थानों के परिसरों की स्थापना और संचालन) विनियम- 2023 नामक दिशानिर्देशों का उद्देश्य भारत में विदेशी उच्च शिक्षण संस्थानों के प्रवेश की सुविधा प्रदान करना है.

पढ़ें :- बिहार में बड़ा रेल हादसा टला, सत्याग्रह एक्सप्रेस की 18 बोगियां बिना इंजन पटरी पर दौड़ी,यात्रियों ने किया हंगामा

यूजीसी की मंजूरी के बिना नहीं खुल पाएंगे परिसर

यूजीसी के मुताबिक, किसी भी विदेशी उच्च शिक्षा संस्थान को यूजीसी की मंजूरी के बिना देश में परिसर खोलने की अनुमति नहीं दी जाएगी. यूजीसी ने कहा है कि जो भी विश्वविद्यालय भारत में अपने कैंपस खोलेंगे उनको विश्व रैंकिंग के शीर्ष 500 में शामिल होना चाहिए. संस्थानों को फैकल्टी और स्टाफ की भर्ती करने की स्वायत्तता होगी.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com