1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Uttar Pradesh : बसपा में मायावती का उत्तराधिकारी कोई दलित ही होगा- सतीश चंद्र मिश्रा

Uttar Pradesh : बसपा में मायावती का उत्तराधिकारी कोई दलित ही होगा- सतीश चंद्र मिश्रा

सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि एक बात और साफ कर दूं कि जब भी पार्टी का उत्तराधिकारी घोषित किया जाएगा तो वो दलित समाज का ही होगा।

By Vikas Arya 
Updated Date

लखनऊ, 08 जनवरी। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि पार्टी में अभी तक उत्तराधिकारी की कोई बात नहीं है। उत्तराधिकारी की बात तब होती है जब नेतृत्व करने में नेता अक्षम हो। बहन कुमारी मायावती अगले 20 सालों तक खुद पार्टी का नेतृत्व करने वाली हैं। उनका स्वास्थ्य ठीक है। सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि एक बात और साफ कर दूं कि जब भी पार्टी का उत्तराधिकारी घोषित किया जाएगा तो वो दलित समाज का ही होगा।

पढ़ें :- UP Elections 2022 : भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई से अखिलेश यादव को होता है दर्द- अमित शाह

बसपा 2022 में प्रदेश में सरकार बनाएगी- मिश्रा

एक कार्यक्रम के दौरान दलित समाज के बसपा से हटने के सवाल पर मिश्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दलित आज भी बसपा के साथ है। वो कहीं छिटकने वाला नहीं है। दलित, मुस्लिम और ब्राह्मण समेत कई समाज मिलकर 2022 में सरकार बनाएंगे। 20 हजार ब्राह्मणों की सभा हुई है। इसके बाद 9 अक्टूबर को 5 लाख लोग रैली में शामिल हुए। बहनजी ने उस रैली को सम्बोधित किया है। वहीं बसपा प्रमुख मायावती के बाहर नहीं निकलने के सवाल पर सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि हमने अभीतक 96 मीटिंग की हैं। बीजेपी के लोग उद्घाटन करके रैली कर रहे हैं। इस पर बीजेपी से सवाल होना चाहिए। ये जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा रैलियों में खर्च कर रहे हैं। इस पर सवाल होना चाहिए।

बीजेपी के लोग राम के नाम पर राजनीति करते हैं- मिश्रा

BJP की B टीम बसपा के आरोपों पर मिश्रा ने कहा कि ये निराधार है। पिछले दिनों फोटो आई थी। उसमें कौन लोग सोफे पर बैठकर उत्तर प्रदेश की सियासत पर चर्चा कर रहे थे। प्रदेश की जनता समझ रही है कि कौन किसके साथ है। हमारे लिए राम आस्था का केंद्र हैं। हम राम के नाम पर वोट नहीं मांगते हैं। हमारी सरकार में वृन्दावन का विकास किया गया। अयोध्या में बहुत से काम हुए। बीजेपी के लोग राम के नाम पर राजनीति करते हैं। राम मंदिर पर आए फैसले को दो साल होने को है, लेकिन अभी तक निर्माण के नाम पर कुछ नहीं हुआ है।

पढ़ें :- उम्मीदवारों के आपराधिक मामलों के साथ सम्पत्ति की भी मिलेगी जानकारी, बस करना होगा ये आसान काम

वहीं बसपा महासचिव मिश्रा ने कहा कि नारे से जनता नहीं समझती। सरकार में रहते आपने क्या किया है। जनता आपके उस काम के आधार पर वोट देती है। हमने जो नारा दिया था, उसे अमली जामा पहनाया। ‘सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय’ का नारा सही मायनों में 2007 से 2012 के बीच अपनी सरकार में बसपा ने लागू किया था। प्रदेश की जनता का साथ बसपा को मिल रहा है। 2022 में बसपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने जा रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...