Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. कर्नाटक: मरीज के पेट से डॉक्टरों ने निकाले 1.5 किलोग्राम के 187 सिक्के, पेट दर्द की थी शिकायत

कर्नाटक: मरीज के पेट से डॉक्टरों ने निकाले 1.5 किलोग्राम के 187 सिक्के, पेट दर्द की थी शिकायत

कर्नाटक के बागलकोट में हनागल श्री कुमारेश्वर अस्पताल के डॉक्टरों ने कहा कि उन्होंने 58 वर्षीय एक व्यक्ति के पेट के अंदर फंसे 187 सिक्के निकाले हैं। व्यक्ति ने शनिवार को पेट में दर्द और उल्टी की शिकायत की थी

By रुचि उपाध्याय 

Updated Date

Karnataka news: कर्नाटक के बागलकोट शहर में एक अजीबोगरीब घटना देखने को मिली जहां एक मरीज के पेट से 187 सिक्के निकाले गए. यह शख्स अस्पताल में पेट दर्द और उल्टी की शिकयत लेकर पहुंचा था. डॉक्टर ने उसके अलग-अलग टेस्ट किए. एंडोस्कोपी भी की. पता चला कि पेट में बहुत सारे सिक्के हैं. ऑपरेशन करके शख्स के पेट से एक, दो और पांच रुपये के अलग-अलग सिक्के निकाले गए. कुल 462 रुपये की कीमत के 187 निकाले गए हैं. डॉक्टरों ने बताया कि इस व्यक्ति को सिजोफ्रेनिया नाम की बीमारी है।

पढ़ें :- बेंगलुरु में फिर सामने आई रोड रेज की घटना, टक्कर मारने के बाद महिला चालक ने युवक को बोनट पर 1 KM तक घसीटा- video viral

इस मरीज का नाम दयमप्पा हरिजन है, जो कि 58 साल के है. वह रायचूर जिले के लिंगसुगुर शहर का रहने वाला है. शनिवार, 26 नवंबर को दयमप्पा ने पेट में दर्द होने की शिकायत की. इस पर उसका बेटा रवि कुमार उसे बागलकोट के एस निजलिंगप्पा मेडिकल कॉलेज से जुड़े HSK अस्पताल ले गया. यहां डॉक्टरों ने लक्षणों के आधार पर एक्स-रे और एंडोस्कोपी की. मरीज के एब्डोमिनल स्कैन में पता चला कि उसके पेट में 1.2 किलोग्राम सिक्के हैं. इसके बाद उसका ऑपरेशन करने का फैसला किया गया.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, दयामप्पा सिजोफ्रेनिया से पीड़ित है और उसे सिक्के निगलने की आदत है. उन्होंने बताया कि सिजोफ्रेनिया के मरीज असामान्य रूप से सोचते हैं, महसूस करते हैं और व्यवहार करते हैं. मरीज ने कुल 187 सिक्के निगले थे. इसमें 5 रुपये के 56 सिक्के, दो रुपये के 51 सिक्के और एक रुपये के 80 सिक्के थे.

मरीज के बेटे ने बताया, “पापा मानसिक तौर पर परेशान जरूर चल रहे थे. लेकिन रोजमर्रा के काम भी करते रहे थे. उन्होंने कभी घर में इस बारे में नहीं बताया कि उन्होंने सिक्के निगले हैं. अचानक जब उन्हें पेट में दर्द हुआ तो उन्होंने हमें दर्द के बारे में जरूर बताया. लेकिन तब भी यह नहीं बताया कि उन्होंने सिक्के निगले हैं. हमें एब्डोमिनल स्कैन में पता चला कि उन्होंने 1.2 किलोग्राम के सिक्के निगले हैं.”

मीडिया से बात करते हुए सर्जन ईश्वर कलबुर्गी ने कहा, ‘यह एक चुनौतीपूर्ण केस था. ऑपरेशन करना बिल्कुल भी आसान नहीं था. मरीज का पेट गुब्बारे जैसा हो गया था. पेट में हर जगह सिक्के थे. ऑपरेशन थिएटर में हमने सीआर के जरिए सिक्कों को ढूंढा. मैंने देखा कि सिक्के कहां-कहां हैं. फिर सिक्कों को निकाला गया.” उन्होंने बताया कि 3 डॉक्टर्स ने इस सर्जरी को किया.

पढ़ें :- Covid-19: कर्नाटक सरकार ने बीएफ.7 सब-वैरिएंट से संक्रमितों के लिए मुफ्त इलाज की घोषणा की

सर्जरी करने वाले डॉक्टरों में से एक डॉक्टर कलबुर्गी ने कहा, “वह एक मनोरोग से पीड़ित था और पिछले 2-3 महीनों से सिक्के निगल रहा था। वह उल्टी और पेट में परेशानी की शिकायत लेकर अस्पताल आया था।”

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com