1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. भाजपा विधायक ने कहा, वित्तीय कुप्रबंधन के कारण पांच वर्षो में एक भी वादा पूरा नहीं कर पायेगी हेमन्त सरकार

भाजपा विधायक ने कहा, वित्तीय कुप्रबंधन के कारण पांच वर्षो में एक भी वादा पूरा नहीं कर पायेगी हेमन्त सरकार

रविवार को आयोजित प्रेसवार्ता में उन्होंने कहा कि कैग रिपोर्ट के अनुसार साल 2020-21 के लिए कुल प्राप्तियां 71,110 करोड़ था। इस दौरान पिछले साल 2019-20 की तुलना में राजस्व संग्रह में करीब सात फ़ीसदी की कमी आई है जो गंभीर विषय है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची : भाजपा विधायक अमित मंडल ने कहा कि वित्तीय कुप्रबंधन के कारण पांच वर्षो में हेमंत सरकार एक भी वादा पूरा नहीं कर पायेगी। वित्तीय वाणिज्यकर विभाग से संबंधित राज्य सरकार के वित्तीय कुप्रबंधन को उजागर करते हुए रविवार को आयोजित प्रेसवार्ता में उन्होंने कहा कि कैग रिपोर्ट के अनुसार साल 2020-21 के लिए कुल प्राप्तियां 71,110 करोड़ था। इस दौरान पिछले साल 2019-20 की तुलना में राजस्व संग्रह में करीब सात फ़ीसदी की कमी आई है जो गंभीर विषय है।

पढ़ें :- BMW के बाद अब CM हेमंत सोरेन के काफिले में शामिल हुई लैंडरोवर और मर्सिडीज बेंज जैसी गाड़ियां, जानें क्यों खरीदनी पड़ी 18 गाड़ियां

उन्होंने कहा कि कोयला, बोल्डर, चिप्स में रेल मार्ग एवं सड़क मार्ग द्वारा बिना परिवहन चालान के खनिज संपदा का लूट खसोट निरंतर जारी है। 2019 से मार्च 2021 तक खनन विभाग के उपनिदेशक के पत्र से प्रतीत होता है कि राज्य सरकार को करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि संथाल परगना में बिना माइनिंग चालान के छह कंपनियों ने अगस्त और सितंबर 2021 में 100 करोड़ से ज्यादा के गिट्टी-पत्थर राज्य से बाहर भेज दिया एवं कारण यह बताया गया कि डीएमओ का पद खाली है।

बिजली की बात करें तो आमद मद से रेवेन्यू एवं टैक्सेशन में 5000 करोड़ का घाटा पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में सरकार को हुआ है। साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली बिल जमा करने के नाम पर गरीबों और किसानों पर एफआईआर किया जा रहा है। आधारभूत संरचनाओं को ठीक करने के नाम पर राज्य सरकार ऊर्जा मित्रों से 15000 रुपये मोबाइल डिवाइस एवं प्रिंटर के सिक्योरिटी के नाम पर ले रही है। राज्य भर में 15 दिसंबर 2020 तक दाखिल खारिज के कुल 70000 मामले लंबित हैं जिसके कारण सरकार को राजस्व का भारी भरकम नुकसान हो रहा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...