1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. केसर की खेती से महक उठी घाटी, जम्मू-कश्मीर में सेफ्रॉन फेस्टिवल का आयोजन

केसर की खेती से महक उठी घाटी, जम्मू-कश्मीर में सेफ्रॉन फेस्टिवल का आयोजन

जम्मू-कश्मीर: इस फूल की डिमांड दुनिया भर में सबसे ज्यादा है. केसर के इस फूल से पर्यटकों को परिचित कराने और व्यवसाय को बढ़ावा मिले, इसलिए इस बार पर्यटन विभाग ने सेफ्रॉन फेस्टिवल का आयोजन किया है.

By Ruchi Kumari 
Updated Date

कश्मीर घाटी में हर मौसम एक अलग ही नजारा लेकर आता है. आज कल कश्मीर में कुदरत का एक और अद्भुत नजारा देखने को मिल रहा है जो अगले 10-15 दिनों में समाप्त हो जाएगा. जीहां इन दिनों कुदरत का एक ऐसा अद्भुत नजारा देखने को मिल रहा है, जिसका इंतजार साल भर लोग यहां बेसब्री से करते हैं. यहां के खुश्क मैदान जहां न सब्जी न फल और ना ही कोई अनाज उगता है, बल्कि कुदरत ने इस जगह को अपने सबसे हसीन तोहफा केसर के फूलों से नवाजा है, जो फूल दुनिया का सबसे महंगा फूल है. इस फूल की डिमांड दुनिया भर में सबसे ज्यादा है. केसर के इस फूल से पर्यटकों को परिचित कराने और व्यवसाय को बढ़ावा मिले, इसलिए इस बार पर्यटन विभाग ने सेफ्रॉन फेस्टिवल का आयोजन किया है

पढ़ें :- मेरठ की शुगर फैक्ट्री में लगी भीषण आग, टरबाइन फटने से चीफ इंजीनियर की मौत, 6 कर्मचारी झुलसे, कई घायल

केसर फेस्टिवल का आयोजन किया

इस बार भले ही बेमौसम बर्फबारी के चलते केसर के फूल काफी कम ही खिले हैं, लेकिन लोग नजारे को देखने के लिए आ रहे हैं. इसलिए पर्यटकों को रिझाने के लिए जम्मू कश्मीर पर्यटन विभाग ने पाम्पोर में केसर फेस्टिवल का आयोजन किया है,इस फेस्टिवल में चार चांद लगाने के लिए स्कूली बच्चों ने केसर की खेती की और एक रंगारंग कार्यक्रम का भी आयोजन हुआ. कलाकारों ने अपनी मधुर आवाज सबको मदहोश कर दिया, तो वहीं कश्मीरी पारंपरिक ड्रेस में नजर आए स्कूली बच्चों ने इस फेस्टिवल में कश्मीर की उस परंपरा को दर्शाया, जो सदियों से पाम्पोर के केसर के इन खेतों में नजर आता है.सैफरन फेस्टिवल के जरिए काफी सारे लोगों को केसर के बारे में पता चलेगा और इस कारोबार से जुड़े लोगों को भी काफी फायदा मिलेगा.

कश्मीर का केसर दुनिया का सबसे अच्छा और महंगा केसर माना जाता है और कश्मीर में इसकी खपत ईरान के बाद दूसरे नंबर पर है, लेकिन क्वालिटी और इसके रंग के कारण यह विश्व भर में पहले नंबर पर आता है और इसकी सबसे ज्यादा डिमांड अपने ही देश भारत में है. कश्मीर में जहां केसर शादियों में खास तौर पर इस्तेमाल किया जाता है, तो देश के दूसरे राज्यों में इसका इस्तेमाल पूजा अर्चना के अलावा मेडिसिन बनाने में भी किया जाता है.

केसर की कीमत क्यों होती है ज्यादा?

पढ़ें :- सोना-चांदी की कीमतों में तेज उतार-चढ़ाव, जानें आज क्या है रेट

केसर को हासिल करने के लिए एक-एक फूल को चुना जाता है. केसर को बाकी फूल से अलग करके सुखाया जाता है. एक किलो केसर के लिए 70-80 हजार फूलों को चुनना पड़ता है. हल्के नीले रंग का यह फूल अपने अन्दर केसर की लड़ियों को छुपा कर रखता है और इसकी वजह से ये दुनिया का सबसे महंगा मसाला बनता है. जो 3-3.5 लाख रुपये प्रति किलोग्राम बिकता है. पूरे दुनिया में 2 या 3 ऐसे देश हैं जहां केसर उगता है पर कश्मीर का केसर पूरी दुनिया में मशहूर है.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...