Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंडः बागेश्वर उप चुनाव  पर कांटे की टक्कर, प्रत्याशियों ने शुरू किया नामांकन

उत्तराखंडः बागेश्वर उप चुनाव  पर कांटे की टक्कर, प्रत्याशियों ने शुरू किया नामांकन

बागेश्वर उप चुनाव में प्रत्याशियों के नामों की घोषणा के साथ चुनावी लड़ाई भी शुरू हो गई।जिसमें बीजेपी प्रत्याशी बुधवार को नामांकन कर दिया है।

By Rakesh 

Updated Date

देहरादून। बागेश्वर उप चुनाव में प्रत्याशियों के नामों की घोषणा के साथ चुनावी लड़ाई भी शुरू हो गई।जिसमें बीजेपी प्रत्याशी बुधवार को नामांकन कर दिया है। तो कांग्रेस प्रत्याशी गुरुवार को अपना नामांकन करेंगे।बागेश्वर चुनाव को लेकर कांग्रेस पर बड़ी जीत का दावा बीजे पी कर रही है।

पढ़ें :- उत्तराखंडः सूबे में शाम 3 बजे तक 45.62% पड़े मत

जबकि कांग्रेस को भरोसा है की चंपावत का खेल बागेश्वर में नहीं होगा। हालांकि ऐसे में अब देखने वाली बात ये होगी कि क्या जनता चंदनराम दास जैसा विश्वास बीजेपी प्रत्याशी पर जताती है। या फिर इस बार जनता कांग्रेस का साथ देकर कांग्रेस प्रत्याशी को विजयी बनाती है। ये तो अब आने वाला वक्त ही बताएगा।

बागेश्वर उप चुनाव में अब प्रत्याशियों का नामांकन शुरू हो चुका है।जिसमें बीजेपी के तरफ से दिवंगत नेता कैबिनेट मंत्री चंदन रामदास की पत्नी पार्वती दास ने अपना नामांकन कर दिया है।कांग्रेस की तरफ से बसंत कुमार गुरुवार 17 अगस्त को अपना नामांकन करेंगे।कांग्रेस पार्टी चुनाव से पहले इस उप चुनाव को लेकर दावा कर रही है कि चंपावत चुनाव की गलती बागेश्वर चुनाव में नहीं दोहराई जाएगी।

और बागेश्वर में बीजेपी को पटकनी देकर पुराना रिकॉर्ड तोड़ने का काम किया जाएगा। जबकि बीजेपी चुनाव से पहले एक ही दावा कर रही है कि कांग्रेस के पास कैंडिडेट की कमी है। इसलिए दूसरे दलों पर वहां डोरे डाल रही है। और इस चुनाव में भी कांग्रेस को चंपावत जैसे ही करारी हार मिलेगी।

ऐसे में अब यह समझ जा सकता है कि कांग्रेस भी बीजेपी की ही रहा पर चल पड़ी है कि चुनाव जीतने के लिए जो जीता हुआ टिकाऊ कैंडिडेट होगा। चाहे वो किसी भी दल का हो। उसे पर दावा खेलने से पार्टी गुरेज नहीं करेगी।

पढ़ें :- हरियाणाः लोकसभा चुनाव को लेकर प्रशासन ने कसी कमर, उपायुक्त ने की तैयारियों की समीक्षा

हालांकि की बीजेपी इस चुनाव में जीत का बड़ा दावा कर रही है। जिसके लिए बीजेपी की तरफ से सहानुभूति कार्ड का इस्तेमाल किया गया है। दरअसल बीजेपी ने चंदनराम दास की पत्नी को ही उनकी सीट पर उम्मीदवार बनाया है।लिहाजा बीजेपी को उम्मीद है कि कांग्रेस को यहां चंपावत जैसी ही हार झेलनी पड़ेगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com