1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Jharkhand Panchayat Elections : सीएम हेमंत सोरेन की चचेरी बहन रेखा ने जीता जिला परिषद चुनाव, कई सियासी दिग्गजों के रिश्तेदारों ने भी जीत की दर्ज

Jharkhand Panchayat Elections : सीएम हेमंत सोरेन की चचेरी बहन रेखा ने जीता जिला परिषद चुनाव, कई सियासी दिग्गजों के रिश्तेदारों ने भी जीत की दर्ज

झारखंड में 4 चरणों में हो रहे पंचायत चुनाव में त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था के तहत 60 हजार से अधिक पदों पर जनप्रतिनिधि चुने जाने हैं। दूसरे चरण के लिए 19 मई को वोट डाले गए हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची, 19 मई। झारखंड में पंचायत चुनाव के लिए अलग-अलग चरणों में वोटिंग प्रक्रिया जारी है। वहीं जहां मतदान खत्म हो गए हैं वहां वोटों की गिनती का काम भी किया जा रहा है। झारखंड में इस बार के पंचायत चुनाव के नतीजे लोगों को चौंका रहे हैं। जिसका का एक कारण ये है कि कई ऐसे उम्मीदवार इस चुनाव में जीत दर्ज कर चुके हैं जो या तो रिक्शा चलाते हैं या फिर दिहाड़ी मजदूर हैं।

पढ़ें :- पंचायत चुनाव के पहले चरण में महिलाओं का दबदबा, सबसे अधिक रही महिलाओं की भागीदारी

सीएम हेमंत सोरेन की चचेरी बहन रेखा ने जीता जिला परिषद चुनाव

त्रिस्तरीय पंचायती राज के लिए हो रहे झारखंड चुनाव में राज्य के सियासी दिग्गजों के नाते-रिश्तेदारों की जोरदार धमक भी दिख रही है। 14 मई को हुए पहले चरण के चुनाव के ज्यादातर नतीजे सामने आ गए हैं और इसमें राज्य के कई बड़े नेताओं के रिश्तेदारों ने जीत हासिल की है। जिसमें झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की चचेरी बहन रेखा सोरेन ने जिला परिषद निर्वाचन क्षेत्र संख्या 15 से चुनाव जीत लिया है। उन्हें कुल 11326 वोट मिले हैं। इस निर्वाचन क्षेत्र से दो अन्य प्रत्याशी उषा देवी और नेहा देवी ने भी रेखा सोरेन को टक्कर देने की कोशिश की थी, लेकिन वो दोनों 6019 और 6838 वोटों पर ही सिमट गईं। रेखा सोरेन ने अपनी जीत के लिए गोला प्रखंड की जनता को बधाई दी है। उन्होंने कहा है कि उनका निर्वाचन क्षेत्र बरलांगा एरिया है। वो अब क्षेत्र की समस्याओं को दूर करने का प्रयास करेंगी। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि सामाजिक तौर पर वो अब काफी सक्रिय हो चुकी हैं। समाज की समस्याओं को दूर करना उनकी पहली प्राथमिकता है। अब देखना होगा कि क्या वे जिला परिषद अध्यक्ष पद के लिए भी जोर लगाएंगी। हालांकि उन्होंने अभी जिला परिषद अध्यक्ष पद को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की है। बतादें कि रेखा कुमारी सोरेन झारखंड मुक्ति मोर्चा के सुप्रीमो शिबू सोरेन के सगे भाई स्वर्गीय शंकर सोरेन की बेटी हैं। गोला प्रखंड के नेमरा गांव में शिबू सोरेन का परिवार आज भी संयुक्त रूप से रहता है।

कई दिग्गज नेताओं के संबंधी जीते चुनाव

उधर सिमडेगा के कांग्रेस विधायक भूषण बाड़ा की पत्नी जोसिमा खाखा ने पाकरटांड़ ब्लॉक (सिमडेगा) से जिला परिषद चुनाव में जीत हासिल की है। उन्होंने पाकरटांड़ ब्लॉक सीट पर झारखंड के पूर्व मंत्री एनोस एक्का की बेटी आईरिन एक्का को हराया है। पूर्व कांग्रेस विधायक स्व. निएल तिर्की के बेटे विशाल तिर्की भी सिमडेगा से जिला परिषद की सीट पर चुनाव लड़ रहे थे, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा। झामुमो विधायक नलिन सोरेन की पत्नी जोएस लप्सा बेसरा ने लगातार दूसरी बार दुमका के काठीकुंड से जिला परिषद सदस्य के पद पर जीत दर्ज की है। इसी तरह बरही के कांग्रेस विधायक उमा शंकर अकेला के बेटे रवि शंकर यादव उर्फ रवि अकेला जिला परिषद के लिए चौपारण प्रखंड पार्ट-2 से जीत हासिल की है। उन्होंने इस क्षेत्र के पूर्व जिला परिषद सदस्य राजदेव यादव को हराया है। चक्रधरपुर के विधायक सुखराम उरांव के भतीजे अरविंद तिग्गा चक्रधरपुर ब्लॉक के कोलचकेड़ा पंचायत से मुखिया चुने गए हैं।

पढ़ें :- झारखंड में पंचायत चुनाव 14 मई से, चार चरणों में होगा मतदान, जानें पूरा ब्यौरा

गौरतलब है कि झारखंड में 4 चरणों में हो रहे पंचायत चुनाव में त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था के तहत 60 हजार से अधिक पदों पर जनप्रतिनिधि चुने जाने हैं। दूसरे चरण के लिए 19 मई को वोट डाले गए हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...