1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Kanya Shiksha Pravesh Utsav : पढ़ाई छोड़ चुकी बच्चियों को स्कूली शिक्षा से जोड़ेगा ‘कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव’, PM मोदी ने अभियान को सराहा

Kanya Shiksha Pravesh Utsav : पढ़ाई छोड़ चुकी बच्चियों को स्कूली शिक्षा से जोड़ेगा ‘कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव’, PM मोदी ने अभियान को सराहा

7 मार्च को महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने शिक्षा मंत्रालय और यूनीसेफ के साथ मिलकर औपचारिक शिक्षा या कौशल प्रणाली की तरफ किशोरियों को वापस स्कूल लाने के लिये ‘कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव’ अभियान का शुभारंभ किया।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 08 मार्च। केंद्र सरकार ने कोरोना और अन्य कारणों के चलते स्कूल छोड़ चुकी 11 से 14 साल की बालिकाओं को फिर से स्कूली शिक्षा में जोड़ने के लिए कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान शुरू किया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को इस अभियान को एक अनुकरणीय प्रयास बताते हुये कहा कि ये अधिक से अधिक लड़कियों के लिए शिक्षा हासिल सुनिश्चित करेगा।

पढ़ें :- Jharkhand : झारखंड के मुख्य सचिव को NHRC ने किया तलब

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति जूबिन इरानी के एक ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एक अनुकरणीय प्रयास जो सुनिश्चित करेगा कि अधिक लड़कियों को शिक्षा प्राप्ति का आनंद मिले। आइए हम सब एक राष्ट्र के रूप में एक साथ आएं और इस आंदोलन को सफल बनाएं।

पढ़ें :- UP Budget 2022-23 : छह लाख का बजट, पांच साल में चार लाख नौकरी का लक्ष्य

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने शिक्षा मंत्रालय और यूनीसेफ के साथ मिलकर औपचारिक शिक्षा/कौशल प्रणाली की तरफ किशोरियों को वापस स्कूल लाने के लिए आज यहां एक अभूतपूर्व अभियान ‘कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव’ का शुभारंभ किया।

पढ़ें :- Ed Raid on Jharkhand : प्रेम प्रकाश के ठिकानों पर ईडी की छापेमारी जारी

बतादें कि 7 मार्च को महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने शिक्षा मंत्रालय और यूनीसेफ के साथ मिलकर औपचारिक शिक्षा या कौशल प्रणाली की तरफ किशोरियों को वापस स्कूल लाने के लिये ‘कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव’ अभियान का शुभारंभ किया। स्कूलों में 11-14 आयु वर्ग की लड़कियों का पंजीकरण बढ़ाना और उन्हें स्कूल में कायम रखना ही इस अभियान का उद्देश्य है। इसका लक्ष्य स्कूल छोड़ने वाली 4 लाख से अधिक किशोरियों को ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ सहित अन्य योजनाओं का लाभ देना है।

पढ़ें :- News Bulletin : रहना चाहते हैं 'अप टू डेट' तो कम शब्दों में पढ़ें सुबह की 5 बड़ी ख़बरें
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...