1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. कपिल मिश्रा को रांची एयरपोर्ट पर रोके जाने के बाद झारखण्ड में भाजपा नेताओं ने उठाये हेमंत सरकार पर सवाल

कपिल मिश्रा को रांची एयरपोर्ट पर रोके जाने के बाद झारखण्ड में भाजपा नेताओं ने उठाये हेमंत सरकार पर सवाल

कपिल मिश्रा दिल्ली से झारखंड के बरही में मॉब लिंचिंग के शिकार रुपेश पांडेय के परिजनों से मिलने पहुंचे थे।

By Akash Singh 
Updated Date

हजारीबाग जिले के बरही में मॉब लिंचिंग के शिकार युवक रुपेश पांडेय के परिजनों से मिलने पहुंचे भाजपा नेता कपिल मिश्रा को बुधवार को रांची एयरपोर्ट पर रोका गया। कपिल मिश्रा दिल्ली से झारखंड के बरही में मॉब लिंचिंग के शिकार रुपेश पांडेय के परिजनों से मिलने पहुंचे थे। जैसे ही कपिल मिश्रा रांची एयरपोर्ट से बाहर निकले पुलिस की टीम ने उन्हें वहीं रोक दिया। इसके बाद से लगातार झारखण्ड भाजपा के नेताओं ने हेमंत सरकार पर हमले शुरू कर दिए कहने हैं।

पढ़ें :- झारखंड की सैर [ इंडिया वायस विश्लेषण ]

रघुबर दास ने ट्वीट कर के कहा कि, तुष्टिकरण में लिप्त हेमंत सरकार ने कपिल मिश्रा जी को रांची एयरपोर्ट पर रोका है। मेरी उनसे फोन पर बात हुई। उनके पीड़ित परिवार से मिलने से क्यों डर रही है सरकार? पीड़ित हिंदू है तो हेमंत सोरेन ने संवेदना तक नहीं जताई, वर्ना तबरेज अंसारी मामले में उनके दुख की सीमा ही नहीं थी।

कपिल मिश्रा को रोके जाने पर पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने भी ट्वीट कर के सरकार से नाराजगी जताई है। उन्होंने लिखा है मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी, लोकतंत्र में आपके इस दमनात्मक कदम से झारखंड के बारे में देश-दुनियाँ में क्या मैसेज जायेगा? कम से कम इसकी तो चिंता कीजिये।आख़िर आप किसी शोक संतप्त परिवार से मिलने जा रहे कपिल मिश्रा जी को किस वजह से रोक रहे हैं? यह आपको बताना चाहिये।

भाजपा झारखण्ड के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने भी इस मामले ट्वीट कर के प्रतिक्रिया दी है उन्होंने लिखा है, रूपेश पाण्डेय के परिजनों से मिलने जा रहे पार्टी के नेता कपिल मिश्रा जी को रांची में रोकना अत्यंत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। मॉब लिंचिंग के शिकार रूपेश के मामले पर मौन साधे हुए झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी यह बताने का कष्ट करेंगे की क्या झारखंड में आपातकाल लागू है ?

पढ़ें :- BMW के बाद अब CM हेमंत सोरेन के काफिले में शामिल हुई लैंडरोवर और मर्सिडीज बेंज जैसी गाड़ियां, जानें क्यों खरीदनी पड़ी 18 गाड़ियां

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...