Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. भाजपा का बड़ा आरोपः पारदर्शी बजट के नाम पर दिल्लीवासियों को गुमराह कर रहीं महापौर, कहा-‘आप’ को लोगों के मुद्दों से लेना-देना नहीं

भाजपा का बड़ा आरोपः पारदर्शी बजट के नाम पर दिल्लीवासियों को गुमराह कर रहीं महापौर, कहा-‘आप’ को लोगों के मुद्दों से लेना-देना नहीं

दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा है कि आम आदमी पार्टी राजनीतिक पार्टी नहीं बल्कि इवेंट मैनेजमेंट कमेटी है, जो यह दिखावा करने की कोशिश करती है कि उसे जनता की चिंता है। हालांकि असल में उन्हें लोगों के मुद्दों की कोई परवाह नहीं है।

By Rakesh 

Updated Date

नई दिल्ली। दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा है कि आम आदमी पार्टी राजनीतिक पार्टी नहीं बल्कि इवेंट मैनेजमेंट कमेटी है, जो यह दिखावा करने की कोशिश करती है कि उसे जनता की चिंता है। हालांकि असल में उन्हें लोगों के मुद्दों की कोई परवाह नहीं है।

पढ़ें :- हरियाणाः BJP नेता का दावा- आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला

दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता ने कहा है कि महापौर डॉ.शैली ओबेरॉय की 2 महीने के विचार-विमर्श के साथ पारदर्शी बजट लाने की घोषणा से पता चलता है कि महापौर को इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि एमसीडी का बजट कैसे तैयार किया जाता है और उस पर विचार-विमर्श कैसे किया जाता है। कहा कि या फिर वह पारदर्शी बजट जैसे शब्दों से दिल्लीवासियों को गुमराह करने की नौटंकी कर रही हैं।

कहा कि महापौर को पता होना चाहिए कि एमसीडी बजट हर साल 10 दिसंबर तक आयुक्त द्वारा तैयार और प्रस्तुत किया जाता है और फरवरी की शुरुआत तक इस पर एमसीडी की स्थायी समिति, वार्ड समितियों और सभी वैधानिक समितियों में विचार-विमर्श किया जाता है, फिर यह मंजूरी के लिए एमसीडी सदन के समक्ष जाता है।

श्री कपूर ने कहा कि परंपरागत रूप से दशकों से एमसीडी की स्थायी समिति ने यह सुनिश्चित किया है कि आरडब्ल्यूए, व्यापारी निकायों और ग्राम पंचायतों और अन्य हितधारकों से बात करके आयुक्त के बजट में लोगों के अनुकूल संशोधन किए जाएं। इसलिए महापौर की घोषणा में कुछ भी नया नहीं है।

बजट 2024-25 एमसीडी का अब तक का सबसे कमजोर बजट होगा

पढ़ें :- हरियाणाः हरियाणा में BJP ने मिशन-2024 के लिए कसी कमर, देश में तीसरी बार लहराएगा पार्टी का परचम

कहा कि आयुक्त के बजट का विशेष मूल्यांकन सुनिश्चित करने के लिए कोई स्थायी समिति नहीं है और न ही आम आदमी पार्टी ने वैधानिक समितियों और वार्ड समितियों के गठन की अनुमति दी है। इस प्रकार बिना किसी स्थायी समिति, वैधानिक समितियों और वार्ड समितियों की चर्चा के बजट 2024-25 एमसीडी का अब तक का सबसे कमजोर बजट होगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com