1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. ‘लड़कियां जहां खुशियां वहां’ कार्यक्रम में हाशिए पर रहने वाली बालिकाओं से स्मृति ईरानी करेंगी बात

‘लड़कियां जहां खुशियां वहां’ कार्यक्रम में हाशिए पर रहने वाली बालिकाओं से स्मृति ईरानी करेंगी बात

-आज राष्ट्रीय बालिका दिवस, कार्यक्रम होंगे आयोजित

By Tejaswita Upadhyay 
Updated Date

नई दिल्ली : राष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय कई कार्यक्रमों का आयोजन करने जा रहा है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए सभी कार्यक्रम ऑनलाइन ही आयोजित किए जाएंगे। कन्या महोत्सव- लड़कियां जहां खुशियां वहां कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी देशभर के कुछ हाशिए पर रहने वाली बालिकाओं के साथ बातचीत करेंगी। इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया जाएगा।

पढ़ें :- Smriti Irani : कांग्रेस पर भड़की स्मृति ईरानी, पलटवार करते हुए कहा- बार नहीं चलाती, कॉलेज छात्रा है मेरी बेटी

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के अनुसार दिनभर में आज कई मंत्रालय भी इस दिवस को मनाएंगे। जिसके तहत कपड़ा, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय, उपभोक्ता मामले और खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री, पीयूष गोयल कुछ युवतियों के साथ एक आभासी संवाद सत्र आयोजित करेंगे, जिन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय नवाचार किए हैं । इसके साथ विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह एक आभासी मंच पर विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल करने वाली युवा महिला उद्यमियों के साथ भी बातचीत करेंगे।

इसके अलावा राष्ट्रीय महिला आयोग एक आभासी चर्चा का आयोजन कर रहा है जिसके माध्यम से उनके वक्ता लड़कियों के अधिकारों और बालिका शिक्षा के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने में योगदान देंगे। इसके अलावा एनसीपीसीआर ‘बालिकाओं के विधायी अधिकार’ विषय पर एक वेबिनार आयोजित करेगा। जिसमें उड़ीसा उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश कल्पेश सत्येंद्र झावेरी, वेबिनार के मुख्य वक्ता होंगे।

इसके अलावा देश बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ (बीबीबीपी) के तहत सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों और 405 जिलों में सीएसआर के तहत ग्राम सभा, महिला सभा, बालिकाओं के मूल्य पर स्कूलों के साथ कार्यक्रम, पोस्टर, स्लोगन-लेखन, ड्राइंग,पेंटिंग प्रतियोगिता ऑनलाइन मोड से आयोजित किए जाएंगे।

साल 2008 से हुई राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुरुआत

पढ़ें :- Delhi : स्मृति ईरानी ने केजरीवाल से सत्येन्द्र जैन के सरकार में बने रहने पर उठाए सवाल, केजरीवाल ने कहा- सत्येंद्र जैन को पद्म विभूषण देना चाहिए

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुरुआत पहली बार 2008 में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा की गई थी। लड़कियों को सशक्त बनाने के उद्देश्य से हर साल 24 जनवरी को देश में राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है। इसका उद्देश्य बालिकाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरुक करने ,बालिका शिक्षा एवं उनके स्वास्थ्य और पोषण के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने और समाज में लड़कियों के जीवन को बेहतर बनाना है।

इस दिशा में केन्द्र सरकार ने कई अभियान और कार्यक्रम शुरू किए हैं जिसमें बालिका बचाओ, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, सुकन्या समृद्धि योजना,सीबीएसई उड़ान योजना, बालिकाओं के लिए मुफ्त या रियायती शिक्षा, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में महिलाओं के लिए आरक्षण शामिल हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...