1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Haryana : हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ‘आप’ में शामिल, तंवर के बहाने दलित वोट में एंट्री

Haryana : हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ‘आप’ में शामिल, तंवर के बहाने दलित वोट में एंट्री

केजरीवाल ने कहा- आम आदमी पार्टी परिवार में तंवर का स्वागत है। अशोक तंवर का छात्र राजनीति से लेकर संसद तक का राजनीतिक अनुभव निश्चित ही हरियाणा और देश भर में पार्टी संगठन के लिए काफ़ी मददगार साबित होगा।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

चंडीगढ़, 04 अप्रैल। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व सांसद डॉ. अशोक तंवर ने सोमवार को आम आदमी पार्टी का दामन थाम लिया है। अशोक तंवर कुछ समय तक पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस में भी रहे हैं। पंजाब में सरकार बनाने के बाद आम आदमी पार्टी अब हरियाणा में अपने पैर पसार रही है।

पढ़ें :- Faridabad Crime: पत्नी के पैसे न देने पर नशे में धुत पति ने की बर्बरता की हदें पार, उखड़े नाखून

सोमवार को अशोक तंवर अपने समर्थकों के साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल के आवास पर पहुंचे। जहां तवंर हरियाणा ‘आप’ प्रभारी सुशील गुप्ता की मौजूदगी में आम आदमी पार्टी में शामिल हुए। केजरीवाल ने तंवर को एक क्षमतावन, जुझारू और योग्य नेता बताते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी सकारात्मक राजनीति की पक्षधर है।

पढ़ें :- अन्ना हजारे की केजरीवाल को चिट्ठी, कहा- "आप भी डूब गए सत्ता के नशे मे, बंद करें शराब की दुकानें"

इससे पहले अशोक तंवर नवंबर में ही TMC में शामिल हुए थे। सितंबर 2019 में कांग्रेस से किनारा करने के बाद तंवर ने फरवरी 2020 में अपना भारत मोर्चा पार्टी बनाई थी।

बतादें कि हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और सिरसा से लोकसभा सदस्य रहे अशोक तंवर हरियाणा की राजनीति के प्रमुख किरदारों में रहे हैं। साल 1999 में अशोक तंवर NSUI के सचिव बने और साल 2003 में वो अध्यक्ष बन गए। तंवर 29 साल की उम्र में युवा कांग्रेस के अध्यक्ष बने थे। वहीं साल 2009 के संसदीय चुनाव में राहुल गांधी ने उन्हें सिरसा के चुनावी मैदान में उतारा। उन्होंने इनेलो के डॉ. सीताराम को 35001 वोटों से हराया। कांग्रेस हाईकमान ने फरवरी, 2014 में डॉ. तंवर को हरियाणा प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया। इस पद पर वो सितम्बर, 2019 तक रहे। करीब दो दशक तक कांग्रेस की सियासत में सक्रिय रहने के बाद 5 अक्टूबर, 2019 को उन्होंने कांग्रेस को अलविदा कह दिया। 25 फरवरी, 2021 को अपना भारत मोर्चा का गठन किया।

पढ़ें :- Haryana : ओमप्रकाश चौटाला को मिली सजा के खिलाफ याचिका पर ED को नोटिस, 25 जुलाई तक जवाब दाखिल करने का निर्देश

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...