Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. पंजाब में पहले सरकारी खजाना मंत्रियों के घरों में जाता था, अब लोगों की जेब तक जाता हैः अरविंद केजरीवाल

पंजाब में पहले सरकारी खजाना मंत्रियों के घरों में जाता था, अब लोगों की जेब तक जाता हैः अरविंद केजरीवाल

सीएम भगवंत मान के नेतृत्व में ‘आप’ की सरकार पंजाब की इंडस्ट्री को ऐसा माहौल देना चाहती है कि वो चीन की इंडस्ट्री को भी मात दे सके। इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को भी दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और पंजाब के सीएम भगवंत सिंह मान ने लुधियाना और मोहाली में ‘सरकार-उद्योगपति मिलनी’ कार्यक्रम के दौरान उद्यमियों के साथ चर्चा की।

By Rakesh 

Updated Date

नई दिल्लीसीएम भगवंत मान के नेतृत्व में ‘आप’ की सरकार पंजाब की इंडस्ट्री को ऐसा माहौल देना चाहती है कि वो चीन की इंडस्ट्री को भी मात दे सके। इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को भी दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और पंजाब के सीएम भगवंत सिंह मान ने लुधियाना और मोहाली में ‘सरकार-उद्योगपति मिलनी’ कार्यक्रम के दौरान उद्यमियों के साथ चर्चा की।

पढ़ें :- सीबीआई जांच पर केजरीवाल ने मोदी पर किया पलटवार, कहा- न झुके हैं, न झुकेंगे

इस दौरान पंजाब के सीएम भगवंत मान ने इंडस्ट्री को प्रोत्साहित करने वाली करीब 58 पॉलिसी की घोषणा की। वहीं, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पंजाब में ये पहली बार हो रहा है कि कोई सरकार उद्यमियों के साथ बैठ कर उनकी समस्याओं पर चर्चा कर रही है। आज हमें ये तय करना है कि पंजाब की इंडस्ट्री को सिर्फ़ बचाना है या फिर चीन की इंडस्ट्री को हराना है।

जो इंडस्ट्री पंजाब से बाहर गई थीं, अब वो वापस आने लगी हैंः केजरीवाल

कहा कि चीन की इंडस्ट्री को पंजाब की इंडस्ट्री हरा सकती है। इसके लिए हम पंजाब की इंडस्ट्री को उस स्तर पर लेकर जाना चाहते हैं, जब चीन को मात दे सकें। उन्होंने कहा कि पंजाब में अब हवा का रुख बदलने लगा है। यही वजह है कि जो इंडस्ट्री पंजाब से बाहर गई थीं, अब वो वापस आने लगी हैं।

मोहाली और लुधियाना में आयोजित ‘सरकार-उद्योगपति मिलनी’ कार्यक्रम के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम लोग वोट मांगने नहीं आए हैं। अक्सर नेताओं को चुनाव से पहले ही जनता की याद आती है और नेता जनता के बीच में केवल और केवल वोट मांगने के लिए जाते हैं। आज हम उद्योगपतियों के बीच आपके काम करने, आपकी समस्याएं सुनने और आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर पंजाब का विकास करने के लिए आए हैं।

पढ़ें :- नई दिल्लीः खराब सड़कों और फुटपाथ को देख PWD मंत्री का मूड हुआ खराब, कहा- लापरवाही पर होगा सख्त एक्शन

सीएम भगवंत मान ने 1500 सुझावों को खुद पढ़कर बनाई पालिसी

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सीएम भगवंत मान ने अखबारों में विज्ञापन देकर एक नंबर जारी किया है और पंजाब के व्यापारियों और उद्यमियों से सुझाव मांगे हैं। करीब 1500 सुझाव आए हैं। भगवंत मान का नंबर था, यह कोई मामूली सुझाव पेटी नहीं है। इस सुझाव पेटी में आए सभी 1500 सुझावों को खुद सीएम भगवंत मान ने पढ़ा और फिर निर्णय लिया। इसके बाद आज 58 पॉलिसी की घोषणा की गई है। हर पॉलिसी की घोषणा व्यापारियों और उद्यमियों से मिले सुझाव पर लिया गया है।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अमृत में पहले स्टील और फाउंड्र की 882 यूनिट होती थी, लेकिन अब 126 ही बची हैं। बाकी सारी पंजाब से बाहर चली गई हैं। अभी चर्चा के दौरान ये बात सामने आई कि दूसरे राज्यों की पॉलिसी अच्छी है। लेकिन यहां बात सिर्फ पॉलिसी की नहीं है। हम भी अच्छी पॉलिसी बनाएंगे। पहले पंजाब के अंदर एक्सर्टाशन का माहौल था।

नेता और अफसर इंडस्ट्री को नोंचने के लिए दौड़ते थे। पंजाब से इंडस्ट्री को लेकर तरह-तरह की कहानियां सुनने को मिलती थी। लोगों को डर लगता था और वे इंडस्ट्री उठाकर बाहर ले जाने लगे। यह हम लोगों ने सरकार बनने के बाद विरासत में पाया। डेढ़ साल के बाद पंजाब में एक बड़ा काम यह हुआ है कि पंजाब की हवा का रुख बदलने लगा है। जो इंडस्ट्री बाहर गई थीं, वो वापस आने लगी हैं। कहा कि पंजाब में 650 आम आदमी क्लीनिक बन गए हैं, इसे 3000 तक लेकर जाएंगे।

पढ़ें :- दशहरे के दिन सनातन धर्म विरोधियों के पुतले जलाएगी दिल्ली भाजपा, प्रमुख रामलीला आयोजकों ने दिया समर्थन
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com