1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Kanpur Violence : पुलिस हिरासत में मास्टरमाइंड हयात जफर हाशमी, हयात पर लोगों को भड़काने का आरोप

Kanpur Violence : पुलिस हिरासत में मास्टरमाइंड हयात जफर हाशमी, हयात पर लोगों को भड़काने का आरोप

पुलिस ने शनिवार दोपहर को मुख्स आरोपी जफर हयात को हिरासत में लिया है। हयात को क्राइम ब्रांच ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है। हयात पहले भी कई बार लोगों को भड़का कर उपद्रव करवा चुका है। वो CAA और NRC प्रदर्शन के दौरान भी काफी एक्टिव रहा था।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

कानपुर, 4 जून। उत्तर प्रदेश के कानपुर में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद कई इलाकों में हिंसा भड़क गई थी। मामले में पुलिस मास्टर माइंड जफर हयात की तलाश कर रही थी। जिसके के लिए पुलिस और क्राइम ब्रांच की कई टीमें लगाई गईं थीं। पुलिस ने शनिवार दोपहर को मुख्स आरोपी जफर हयात को हिरासत में लिया है। हयात को क्राइम ब्रांच ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है। बतादें कि हयात जफर हाशमी सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा सक्रिय है और वो पहले भी कई बार लोगों को भड़का कर उपद्रव करवा चुका है। वो CAA और NRC प्रदर्शन के दौरान भी काफी एक्टिव रहा था।

पढ़ें :- NIA Raid : यूपी, एमपी समेत 6 राज्यों में NIA की छापेमारी, कई संदिग्ध गिरफ्तार

हिंसा के पीछे कई साजिशकर्ता हैं शामिल

पुलिस का कहना है कि हिंसा फैलाने के पीछे कहीं ना कहीं कई और लोग भी शामिल हैं, जो भीड़ जुटाने से लेकर बवाल कराने में शामिल रहे हैं। पुलिस ऐसे लोगों के बारे में जानकारी जुटा रही है। खुफिया विभाग भी अपने स्तर से ऐसे लोगों को चिह्नित करने की कोशिश कर रही है। पुलिस के कई अन्य विंग ने भी गोपनीय तरीके से जांच शुरू कर दी है। ADG कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि शुक्रवार की रात 18 लोगों की गिरफ्तारी की गई। बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी टीम कर रही है। घटनाक्रम को एक्सपोज किए जाने तक ये काम चलता रहेगा। गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी। साथ ही सार्वजनिक और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले में रिकवरी को लेकर भी प्रशासन की ओर से कार्रवाई होगी। उपद्रवियों ने जो सरकारी और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है, उसकी भरपाई के लिए कानून की धारा के तहत कार्रवाई होगी।

क्या था पूरा मामला ?

बतादें कि BJP प्रवक्ता नूपुर शर्मा की टिप्पणी से मुस्लिम समाज के लोगों में काफी नाराजगी है, जिसे लेकर शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद कानपुर में बवाल हो गया। इस बीच अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों और पुलिस के बीच भिड़ंत हो गई। पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लाठीचार्ज किया और लोगों को वहां से खदेड़ा। जोहर फैंस एसोसिएशन और बाकी मुस्लिम तंजीमों ने पहले ही शुक्रवार को मुस्लिम समुदाय से कारोबार बंद रखने की अपील की थी। इसी बीच ये विवाद हो गया। वहीं बतादें कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने कानपुर में हिंसा और पथराव की घटना के एक दिन बाद शनिवार को 500 लोगों के खिलाफ भी केस दर्ज किए है। हिंसा की घटनाओं में 40 लोग घायल हुए थे। शहर के हिंसा प्रभावित इलाकों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है और शांति का माहौल है।

पढ़ें :- Kanpur Violence : कानपुर की घटना में बड़ी साजिश की बू आ रही- केशव प्रसाद मौर्य

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...