1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Punjab : अब एक ही जेल में रहेंगे धुर-विरोधी नेता सिद्धू और मजीठिया, सिद्धू ने पटियाला कोर्ट में किया सरेंडर

Punjab : अब एक ही जेल में रहेंगे धुर-विरोधी नेता सिद्धू और मजीठिया, सिद्धू ने पटियाला कोर्ट में किया सरेंडर

पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष नवजोत सिद्धू और अकाली नेता बिक्रमजीत सिंह मजीठिया अब एक ही जेल में रहेंगे। दोनों नेताओं की दुश्मनी पूरे पंजाब में चर्चा का विषय है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

चंडीगढ़, 20 मई। पंजाब राजनीति में सबसे बड़े धुर विरोधी दो नेता अब एक ही जेल में रहेंगे। पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष नवजोत सिद्धू और अकाली नेता बिक्रमजीत सिंह मजीठिया अब एक ही जेल में रहेंगे। दोनों नेताओं की दुश्मनी पूरे पंजाब में चर्चा का विषय है।

पढ़ें :- Presidential Election 2022 : द्रौपदी मुर्मू को SAD का समर्थन, सुखबीर बादल ने कहा- सिखों पर अत्याचारों के कारण कांग्रेस के साथ कभी नहीं जाएंगे

एक जेल में दो धुर-विरोधी नेता

विधानसभा के भीतर और बाहर बिक्रमजीत सिंह मजीठिया और नवजोत सिंह सिद्धू खुलेआम एक-दूसरे पर निजी हमले करते रहे हैं। हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान बिक्रमजीत मजीठिया ने सिद्धू को टक्कर देने के लिए अपना पुश्तैनी हलका छोडकर नवजोत सिंह सिद्धू के अमृतसर पूर्वी हलके से चुनाव लड़ा था। पंजाब की राजनीति में बहुत से मौके ऐसे आए जब दोनों नेता एक-दूसरे के साथ गाली-गलौज भी करते दिखाई दिए। अब वक्त का पहिया उलटा घूम गया है। पटियाला की जिस जेल में अकाली नेता बिक्रमजीत सिंह मजीठिया बतौर हवालाती बंद हैं, उसी जेल में नवजोत सिंह सिद्धू बतौर कैदी रहेंगे। बहुत कम संभावनाएं हैं जब दोनों नेताओं का जेल में आमना-सामना होगा, क्योंकि पटियाला जेल में कैदियों और हवालातियों के लिए अलग-अलग बैरक बनी हुई हैं।

सिद्धू ने पटियाला कोर्ट में किया सरेंडर, जेल भेजे गए

बतादें कि सुप्रीम कोर्ट ने 34 साल पुराने केस में एक साल की सजा सुनाए जाने के बाद पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को पटियाला की कोर्ट में सरेंडर कर दिया। जिसके बाद उन्हें पटियाला केंद्रीय जेल भेज दिया गया। अब अगले एक साल तक नवजोत सिंह सिद्धू इसी जेल में रहेंगे। गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा सजा सुनाए जाने के बाद शुक्रवार को नवजोत सिद्धू ने खराब सेहत का हवाला देकर सुप्रीम कोर्ट में आवेदन करके सरेंडर करने के लिए एक हफ्ते का समय मांगा, लेकिन सुप्रीम कोर्ट से कोई राहत नहीं मिली। इस बीच पंजाब सरकार ने नवजोत सिंह सिद्धू को दी सुरक्षा भी वापस बुला ली गई।

पढ़ें :- Punjab : पंजाब में कांग्रेस को बड़ा झटका, 4 पूर्व कांग्रेसी मंत्री और मोहाली के मेयर BJP में शामिल, AAP ने कहा- बीजेपी कांग्रेस का कूड़ादान

सिद्धू को प्रियंका गांधी ने दी सांत्वना

सिद्धू के कोर्ट में सरेंडर करने से पहले कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने फोन करके सांत्वना दी और सिद्धू से कहा कि वो इस घड़ी में खुद को अकेला ना समझें, पूरी पार्टी उनके साथ है। प्रियंका गांधी के फोन के बाद पंजाब कांग्रेस विधायक दल के नेता प्रताप बाजवा और कांग्रेस प्रधान अमरिंदर सिंह राजा वडि़ंग ने भी उन्हें सांत्वना दी। लंबी उठापटक के बाद शुक्रवार को नवजोत सिद्धू अपने पटियाला आवास से बाद दोपहर करीब साढे 3 बजे कोर्ट के लिए रवाना हुए। कांग्रेस के पूर्व विधायक नवतेज चीमा उनकी गाड़ी चलाकर लेकर गए। सिद्धू के साथ उनकी पत्नी और पूर्व मंत्री नवजोत कौर सिद्धू, पूर्व मंत्री अश्वनी सेखड़ी, पूर्व विधायक नाजर सिंह मानशाहिया समेत कई नेता मौजूद रहे।

पटियाला कोर्ट में कागजी कार्रवाई के दौरान सिद्धू के वकीलों ने बताया कि उन्हें लीवर की समस्या है। वकीलों ने कोर्ट को बताया कि सिद्धू इस समय कौन-कौन सी दवाईयां ले रहे हैं। इस प्रक्रिया के बाद सिद्धू को पटियाला के माता कौशल्या अस्पताल में ले जाया गया, जहां उनका मेडिकल टेस्ट हुआ। इसके बाद पुलिस उन्हें पटियाला की जेल में लेकर गई, जहां वो अगले एक साल तक कैदी के रूप में रहेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...