1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Delhi AIIMS:दिल्ली एम्स का सर्वर डाउन,सर्वर पर साइबर अटैक की आशंका, जांच करने पहुंची केंद्रीय एजेंसियां

Delhi AIIMS:दिल्ली एम्स का सर्वर डाउन,सर्वर पर साइबर अटैक की आशंका, जांच करने पहुंची केंद्रीय एजेंसियां

दिल्ली में बुधवार सुबह 7 बजे से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान(AIIMS)में सर्वर में गड़बड़ी पाई गयी है,सर्वर डाउन होने से OPD में रजिस्ट्रेशन और सैंपल कलेक्शन का काम प्रभावित हुआ,फिलहाल सभी काम मैनुअल तरीके से किया जा रहा है,आशंका जताई जा रही है कि साइबर अटैक किया गया है,इस मामले में केंद्रीय साइबर एजेंसियां जांच के लिए मौके पर पहुंच गई हैं. सूत्रों के मुताबिक सर्वर डाउन का मामला गृह मंत्रालय तक पहुंचा है.

By रेनू मिश्रा 
Updated Date

Delhi News: दिल्ली में बुधवार सुबह 7 बजे से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान(AIIMS)में सर्वर में गड़बड़ी पाई गयी है,सर्वर डाउन होने से OPD में रजिस्ट्रेशन और सैंपल कलेक्शन का काम प्रभावित हुआ,फिलहाल सभी काम मैनुअल तरीके से किया जा रहा है,आशंका जताई जा रही है कि साइबर अटैक किया गया है,इस मामले में केंद्रीय साइबर एजेंसियां जांच के लिए मौके पर पहुंच गई हैं. सूत्रों के मुताबिक सर्वर डाउन का मामला गृह मंत्रालय तक पहुंचा है.

पढ़ें :- दिल्ली नगर निगम चुनाव की तारीख आ रही करीब,रोड शो और रैलियों की मंजूरी के लिए उम्मीदवारों की उमड़ी भीड़

सूत्रों ने कहा कि सिस्टम पूरी तरह से खत्म हो चुका है और एजेंसियां ​​इसे फिर से शुरू करने की प्रक्रिया में हैं,मिली जानकारी के अनुसार संदिग्ध हमले से मरीज की केयर सिस्टम में बाधा आई है,इस मामले कि शिकायत दिल्ली पुलिस में दर्ज कराई गई है. सूत्रों ने बताया है कि एम्स के वरिष्ठ अधिकारी इसे एक बड़ा साइबर हमला होने का संदेह जताते हुए सरकार के शीर्ष स्तर तक पहुंच गए हैं, साइबर अटैक उस सिस्टम पर हुआ, जिस पर पेशेंट केयर सिस्टम आधारित है. अन्य इंटरनेट सेवाएं काम कर रही हैं लेकिन बिलिंग और अपॉइंटमेंट प्रभावित हुए हैं.

अस्पताल प्रशासन ने कहा कि सर्वर रैंसमवेयर हमले के चलते डाउन हो गया. बुधवार शाम को जारी एक बयान में अस्पताल प्रशासन ने कहा कि शाम साढ़े सात बजे तक मैन्युअल तरीके से सेवाएं दी जा रही थीं,अस्पताल प्रशासन ने कहा, ‘आज एम्स नई दिल्ली में उपयोग किए जा रहे राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र के ई-अस्पताल का सर्वर डाउन था, जिसके कारण स्मार्ट लैब, बिलिंग, रिपोर्ट जनरेशन, अपॉइंटमेंट सिस्टम आदि सहित कई सेवाएं प्रभावित हुई हैं. हालांकि ये सभी सेवाएं फिलहाल मैनुअल मोड पर चल रही हैं.’

एम्स ने एक बयान में कहा कि एम्स में काम कर रही राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) की एक टीम ने सूचित किया है कि यह एक रैंसमवेयर हमला हो सकता है. उचित कानून प्रवर्तन अधिकारी इसकी जांच करेंगे. एम्स के एक अधिकारी ने कहा, “सर्वर बंद होने से स्मार्ट लैब, बिलिंग, रिपोर्ट जनरेशन और अपॉइंटमेंट सिस्टम समेत ओपीडी और आईपीडी डिजिटल अस्पताल सेवाएं प्रभावित हुई है

पढ़ें :- Delhi pollution पर आप सरकार ने किया ट्रकों की एंट्री बैन, 50% कर्मचारी करेंगे WFH
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...