1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. Uttarakhand में मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट, SDRF और पुलिस को किया गया सतर्क

Uttarakhand में मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट, SDRF और पुलिस को किया गया सतर्क

नैनीताल, चंपावत और उधमसिंह नगर जनपदों में भारी से बहुत भारी बारिश, गर्जन के साथ ओलावृष्टि, आकाशीय बिजली चमकने की संभावना है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

Heavy Rain & Snowfall : उत्तराखंड में देहरादून सहित प्रदेश के लगभग सभी जिलों में बुधवार से ही तेज बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने इसको लेकर रेड और येलो अलर्ट भी जारी किया है। मौसम विभाग के अलर्ट पर उत्तराखंड पुलिस और एसडीआरएफ की टीम को भी सतर्क कर दिया गया गया है।

पढ़ें :- वोटर्स को लुभाने के लिए उम्मीदवार कर रहा था बिरयानी दावत, 200 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

3 और 4 फरवरी को भारी बारिश की संभावना

मौसम विभाग ने 3 और 4 फरवरी को राज्य के कुमाऊं मंडल के जनपदों में कुछ स्थानों में भारी से बहुत भारी बारिश और बर्फबारी की संभावना जतायी है। इसके साथ ही नैनीताल, चंपावत और उधमसिंह नगर जनपदों में भारी से बहुत भारी बारिश, गर्जन के साथ ओलावृष्टि, आकाशीय बिजली चमकने की संभावना है। उसी प्रकार विभाग ने गढ़वाल, गढ़वाल मंडल के देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी में भारी बारिश, गर्जन के साथ ओलावृष्टि, आकाशीय बिजली चमकने और ऊंचाई वाले स्थानों में बर्फबारी होने का अनुमान लगाया है।

हाई अलर्ट पर पुलिस और एसडीआरएफ की टीम

इसको देखते हुए और मौसम विभाग की चेतावनी के दृष्टिगत पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार के निर्देश पर एसडीआरएफ और पुलिस को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है। एसडीआरएफ के सेनानायक मणिकांत मिश्रा ने सभी टीमों को निर्देशित किया है कि सभी अपने-अपने क्षेत्रों में सतर्क दृष्टि रखें। नदी किनारे बसे गांवों-कस्बों को पीए सिस्टम द्वारा अवगत कराया जाए। ताकि किसी भी जान-माल का खतरा उत्पन्न न हो। उन्होंने कहा है कि किसी भी आपात परिस्थिति के लिए पूर्णतः अलर्ट रहें। अपने रेस्क्यू उपकरणों को कार्यशील दशा में रखें।

पढ़ें :- Uttarakhand : 8 मई को खुलेंगे श्रद्धालुओं के लिए श्री बदरीनाथ धाम के कपाट

एसडीआरएफ की 22 टीमें रहती हैं हमेशा तैयार

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में एसडीआरएफ की 22 टीमें किसी भी आपदा या आपात स्थिति से निपटने के लिए हमेशा तैयार रहती हैं। एसडीआरएफ के सेनानायक मिश्रा ने एसडीआरएफ के कंट्रोल रूम को भी अलर्ट पर रखा है। साथ ही उन्हें निर्देशित किया है कि सूचनाओं का आदान-प्रदान तत्काल किया जाए, जिससे किसी भी घटनास्थल पर समय से पहुंच कर रेस्क्यू कार्य सुचारु किया जा सके।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...