1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. News Bulletin : रहना चाहते हैं ‘अप टू डेट’ तो कम शब्दों में पढ़ें सुबह की 10 बड़ी ख़बरें

News Bulletin : रहना चाहते हैं ‘अप टू डेट’ तो कम शब्दों में पढ़ें सुबह की 10 बड़ी ख़बरें

Morning Top 10 Hindi News

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 25 अप्रैल 2022

पढ़ें :- News Bulletin : रहना चाहते हैं 'अप टू डेट' तो कम शब्दों में पढ़ें सुबह की 5 बड़ी ख़बरें

1. खेल के मैदान में सीखते हैं जीत को पचाने और हार से सीखने की कला – प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को जीवन और खेल के बीच समानताएं बताते हुए कहा कि जीत को पचाने का हुनर और हार से सीखना एक महत्वपूर्ण कला है, जिसे हम खेल के मैदान में सीखते हैं।

2. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार से सम्मानित

मुंबई में स्थित श्रीषणमुखानंद सभागृह में रविवार को मास्टर दीनानाथ प्रतिष्ठान और मंगेशकर परिवार की ओर से लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सम्मानित किया गया। दिवंगत गायिका लता मंगेशकर के नाम पर ये पहला पुरस्कार है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस पुरस्कार को देश जनता को समर्पित किया है।

पढ़ें :- News Bulletin : रहना चाहते हैं 'अप टू डेट' तो कम शब्दों में पढ़ें सुबह की 5 बड़ी ख़बरें

3. असम : GMC चुनाव में BJP-अगप गठबंधन को कुल 58 वार्डों में जीत मिली

60 वार्डों वाले गुवाहाटी नगर निगम (जीएमसी) के चुनाव में BJP को अभूतपूर्व और ऐतिहासिक सफलता मिली है। बीजेपी-अगप गठबंधन को कुल 58 वार्डों में जीत मिली है। कांग्रेस पूरी तरह से चुनाव में धराशायी हो गई। असम जातीय परिषद (अजाप) को एक और आम आदमी पार्टी (आप) को भी एक-एक वार्ड में जीत मिली है।

4. लखीमपुर खीरी हिंसा : मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा ने सीजेएम कोर्ट में किया सरेंडर

सुप्रीम कोर्ट से जमानत रद्द होने के बाद लखीमपुर खीरी हिंसा मामले के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा ने रविवार को सीजेएम कोर्ट में सरेंडर कर दिया। कोर्ट ने आरोपी को जेल भेज दिया है।

5. राणा दंपत्ति के खिलाफ मुंबई में तीसरा मामला दर्ज

पढ़ें :- News Bulletin : रहना चाहते हैं 'अप टू डेट' तो कम शब्दों में पढ़ें सुबह की 5 बड़ी ख़बरें

अमरावती संसदीय क्षेत्र की सांसद नवनीत राणा और उनके पति विधायक रवि राणा के खिलाफ मुंबई के खार पुलिस स्टेशन में तीसरा मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में पुलिस छानबीन जारी है। राणा दंपत्ति के खिलाफ मुंबई के अलावा पुणे और उस्मानाबाद में भी एक-एक मामला दर्ज है।

6. महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा के पाठ करने का विरोध कहीं नहीं – संजय राऊत

शिवसेना प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य संजय राऊत ने कहा कि महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा के पाठ करने का विरोध कहीं नहीं है। लेकिन किसी के घर में जबरन जाकर हनुमान चालीसा भला कैसे पढ़ी जा सकती है। उन्होंने कहा कि राणा दंपत्ति की गिरफ्तारी को सही ठहराते हुए कोर्ट ने जेल भेजा है।

7. पुलवामा में सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में 3 आतंकी ढेर

पुलवामा जिले के पोहू इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच जारी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने एक और आतंकी को मार गिराया है। इसके साथ ही मरने वाले आतंकियों की संख्या तीन हो गई है। इस मुठभेड़ में एक जवान भी घायल हो गया है। फिलहाल सुरक्षाबलों का अभियान जारी है।

8. पंजाब पुलिस ने 12 साल से फरार बब्बर खालसा आतंकी को डेराबस्सी से पकड़ा

पढ़ें :- News Bulletin : रहना चाहते हैं 'अप टू डेट' तो कम शब्दों में पढ़ें सुबह की 5 बड़ी ख़बरें

पंजाब पुलिस की एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स ने रविवार को मोस्ट वांटेड आतंकवादी और बब्बर खालसा इंटरनेशनल माड्यूल के सक्रिय सदस्य चरनजीत सिंह उर्फ पटियालवी को गिरफ्तार किया। वो पिछले 12 साल से अलग-अलग पहचान और ठिकाने बदलकर गिरफ्तारी से बच रहा था।

9. ई-कॉमर्स कंपनियां कर रही धारा-79 का गलत इस्तेमाल – कैट

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने केंद्रीय आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव से धारा-79 को स्पष्ट करने की मांग की है। कैट ने रविवार को आईटी मंत्री को एक पत्र भेजकर सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 की धारा-79 और उसके नियमों के स्पष्टीकरण की मांग की है। कारोबारी संगठन कैट ने जारी एक बयान में कहा कि धारा-79 के अस्पष्ट होने से अमेजन, फ्लिपकार्ट, ओला, उबर और जोमैटो सहित ऑनलाइन दवा बेचने वाली ई-कामर्स कंपनियां गलत सामान बेचती हैं। ये कंपनियां कई तरह की गलत जानकारी देने के साथ-साथ अपने पोर्टल पर बिक रहे सामान और सेवाओं की जिम्मेदारी ना लेते हुए धारा-79 का सहारा और सुरक्षा लेकर कानूनी कार्रवाई से भी बच जाती हैं।

10. फिलहाल नहीं बढ़ेगा GST टैक्स स्लैब, काउंसिल ने राज्यों से नहीं मांगी राय

वस्तु एवं सेवा कर (GST) के टैक्स स्लैब बढ़ने की खबरों पर फिलहाल विराम लग गया है। दरअसल GST संबंधी मुद्दों पर फैसला करने वाली सर्वोच्च संस्था जीएसटी काउंसिल ने टैक्स स्लैब (कर दरें) बढ़ाने को लेकर राज्यों से राय नहीं मांगी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...