1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. आज पहले चरण के चुनाव में पश्चिमी यूपी के 2.28 करोड़ मतदाता करेंगे 623 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला

आज पहले चरण के चुनाव में पश्चिमी यूपी के 2.28 करोड़ मतदाता करेंगे 623 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आज सुबह सात बजे मतदान प्रारम्भ हो गया। मतदान शाम सात बजे तक जारी रहेगा। ठंड के बावजूद कई मतदान केंद्रों पर सुबह से ही भीड़ है।

By Ujjawal Mishra 
Updated Date

UP Assembly Election : उत्तर प्रदेश में 18वीं विधानसभा के लिए हो रहे चुनाव में प्रथम चरण के 11 जिलों की 58 सीटों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आज सुबह सात बजे मतदान प्रारम्भ हो गया। मतदान शाम सात बजे तक जारी रहेगा। ठंड के बावजूद कई मतदान केंद्रों पर सुबह से ही भीड़ है। कोविड-19 के दृष्टिगत मतदेय स्थलों पर थर्मल स्कैनर, हैण्ड सैनीटाइजर, ग्लव्स, फेस मास्क, फेस शील्ड, पीपीई किट, साबुन, पानी आदि की पर्याप्त मात्रा में व्यवस्था की गई है।

पढ़ें :- UP News: बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर दर्दनाक हादसे में 4 लोगों की मौत, अन्य 2 गंभीर रूप से घायल

73 महिला प्रत्याशी समेत कुल 623 उम्मीदवार चुनाव मैंदान में

पहले चरण में 73 महिला प्रत्याशी समेत कुल 623 उम्मीदवार चुनाव मैंदान में हैं। करीब 2.28 करोड़ मतदाता आज इन सभी उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। निष्पक्ष व शांतिपूर्ण मतदान के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये गये हैं। लगभग 800 कंपनी अर्धसैनिक बल को पोलिंग बूथ के अलावा अन्य संवेदनशील स्थानों पर तैनात किया गया है।

2175 सेक्टर और 284 जोनल मजिस्ट्रेट तैनात

मतदान पर सतर्क दृष्टि रखने के लिये चुनाव आयोग द्वारा 48 सामान्य प्रेक्षक, आठ पुलिस प्रेक्षक तथा 19 व्यय प्रेक्षक भी तैनात किये गये हैं। इसके अलावा 2175 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 284 जोनल मजिस्ट्रेट, 368 स्टैटिक मजिस्ट्रेट तथा 2718 माइक्रो ऑब्जर्वर भी तैनात किये गये हैं।

पढ़ें :- सीएम योगी ने आजम खान पर कास तंज, कही ये बात, पढ़ें

पहले चरण में कुल 26,027 पोलिंग बूथ 

प्रथम चरण के चुनाव में मतदाताओं की कुल संख्या 2.28 करोड़ है, जिनमें 1.24 करोड़ पुरुष, 1.04 करोड़ महिला और 1,448 थर्ड जेंडर के मतदाता हैं। इस चरण में मतदान के लिये 10,853 मतदान केंद्र और 26,027 मतदेय स्थल बनाये गये हैं। इनमें 467 आदर्श मतदान केंद्र हैं। चुनाव प्रक्रिया को सम्पन्न कराने के लिये कुल 1,20,876 मतदान कार्मिक लगाये गये हैं।

इन जिलों में हो रहा मतदान

चुनाव के प्रथम चरण में पश्चिमी उप्र के 11 जिले की 58 सीटें हैं। इनमें शामली जिले की तीन, मुजफ्फरनगर की छह, मेरठ की सात, बागपत की तीन, गाजियाबाद की पांच, हापुड़ की तीन, गौतमबुद्ध नगर की तीन, बुलंदशहर की सात, अलीगढ़ की सात, मथुरा की पांच और आगरा जिले की नौ विधानसभा सीटों पर प्रथम चरण के चुनाव हेतु मतदान हो रहा है।

पहले चरण की कुल सीटें

पढ़ें :- UP News:रेलवे स्टेशन पर बुजुर्ग के नमाज पढ़ने का वीडियो हुआ वायरल,जांच में जुटी RPF

कैराना, थानाभवन, शामली, बुढ़ाना, चरथावल, पुरकाजी (सुरक्षित), मुजफ्फरनगर, खतौली, मीरापुर, सिवालखास, सरधना, हस्तिनापुर (सुरक्षित), किठौर, मेरठ कैंटोनमेंट, मेरठ, मेरठ दक्षिण, छपरौली, बड़ौत, बागपत, लोनी, मुरादनगर, साहिबाबाद, गाजियाबाद, मोदीनगर, धौलाना, हापुड़ (सुरक्षित), गढ़मुक्तेश्वर, नोएडा,

दादरी, जेवर, सिकंदराबाद, स्याना, अनूपशहर, डिबाई, शिकारपुर, खुर्जा (सुरक्षित), खैर (सुरक्षित), बरौली, अतरौली, छर्रा, कोल, अलीगढ़, इगलास (सुरक्षित), छाता, मांट, गोवर्धन, मथुरा, बलदेव (सुरक्षित), एत्मादपुर, आगरा कैंटोनमेंट (सुरक्षित), आगरा दक्षिण, आगरा उत्तर, आगरा ग्रामीण (सुरक्षित), फतेहपुर सीकरी, खैरागढ़, फतेहाबाद और बाह सीटें प्रथम चरण की हैं।

मथुरा व मुजफ्फरनगर में सर्वाधिक 15-15 उम्मीदवार

पहले चरण के चुनाव में सर्वाधिक 15-15 उम्मीदवार मथुरा और मुजफ्फरनगर सीट से मैंदान में हैं। वहीं इस चरण में सबसे कम पांच उम्मीदवार अलीगढ़ की इगलास सीट से हैं।

सभी पार्टियों के लिए पहले चरण का चुनाव सबसे मुश्किल चरण 

सभी राजनीतिक दलों के लिए यह चरण चुनाव का सबसे मुश्किल माना जा रहा है क्योंकि यह उन सीटों पर हो रहा है जहां किसान आंदोलन का प्रभाव माना जाता है। भाजपा के लिए चुनाव का यह एक कठिन चरण है। जबकि समाजवादी पार्टी-राष्ट्रीय लोकदल गठबंधन, कांग्रेस और बसपा के समक्ष भी चुनौती कम नहीं होगी। क्योंकि उन्हें अपनी उम्मीदों के मुताबिक यहां बढ़त मिलती है या नहीं यह देखना होगा।

पढ़ें :- UP News:स्कूल की तीसरी मंजिल से 11वीं की छात्रा ने लगाई छलांग, गोरखपुर किया गया रेफर हालत गंभीर

पहले चरण पर टिकी विपक्षी दलों की उम्मीदें 

विपक्षी दलों की अधिकतर उम्मीदें इसी चरण पर हैं। किसान आंदोलन प्रभावित इस इलाके में गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, मेरठ, मुजफ्फरनगर, बागपत, बुलंदशहर, हापुड़, शामली, अलीगढ़, मथुरा और आगरा की 58 सीटें आती हैं। इन सीटों पर विभिन्न दलों और निर्दलीय उम्मीदवारों की कुल संख्या 623 है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश की इन्हीं 58 सीटों पर 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में 64.2 प्रतिशत मतदान हुआ था।

 

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...