Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. भारत की पहलः अफ्रीकन यूनियन बना G-20 का स्थाई सदस्य, चीन और यूरोपियन यूनियन ने भी किया भारत का समर्थन

भारत की पहलः अफ्रीकन यूनियन बना G-20 का स्थाई सदस्य, चीन और यूरोपियन यूनियन ने भी किया भारत का समर्थन

नई दिल्ली में G-20 समिट हो रहा है। देश के प्रधानमंत्री मोदी की पहल पर अफ्रीकन यूनियन को G-20 का स्थाई सदस्य बनाया गया। इसके लिए चीन और यूरोपियन यूनियन ने भी भारत का समर्थन किया।

By Rakesh 

Updated Date

नई दिल्ली। नई दिल्ली में G-20 समिट हो रहा है। देश के प्रधानमंत्री मोदी की पहल पर अफ्रीकन यूनियन को G-20 का स्थाई सदस्य बनाया गया। इसके लिए चीन और यूरोपियन यूनियन ने भी भारत का समर्थन किया। प्रधानमंत्री मोदी ने आयोजन स्थल भारत मंडपम में विदेशी मेहमानों का स्वागत किया।

पढ़ें :- G-20ः ग्लोबल बायोफ्यूल्स एलायंस का शुभारंभ, भारत-मध्य पूर्व यूरोप कनेक्टिविटी कॉरिडोर जल्द होगा लॉन्च

अपने उद्घाटन भाषण में पीएम मोदी  ने मोरक्को भूकंप में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में हम मोरक्को के साथ हैं। पीड़ितों की हरसंभव मदद करेंगे। स्थाई सदस्य बनते ही अफ्रीकन यूनियन के हेड अजाली असोमानी ने PM मोदी को गले लगा लिया।

मोदी बोले- दुनिया में भरोसे का संकट पैदा हुआ
पीएम मोदी ने कहा कि कोविड महामारी के बाद पूरे विश्व में विश्वास का संकट पैदा हो गया है। यूक्रेन युद्ध ने इस संकट को और गहरा कर दिया है। जब हम कोरोना को हरा सकते हैं तो आपसी चर्चा से विश्वास के इस संकट को भी दूर सकते हैं। अब समय आ गया है, जब सभी लोग साथ मिलकर चलें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज हम जिस जगह इकट्ठा हुए हैं, यहां से कुछ किमी दूर ढाई हजार साल पुराना स्तंभ है। इस पर प्राकृत भाषा में लिखा है कि मानवता का कल्याण सदैव सुनिश्चित किया जाए। ढाई हजार साल पहले भारत की धरती ने ये संदेश पूरी दुनिया को दिया था।

मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को भारत मंडपम में बने कोणार्क चक्र के बारे में बताया

पढ़ें :- इंडिया डे परेड में जैकलीन ने लहराया तिरंगा

21वीं सदी का यह समय पूरी दुनिया को नई दिशा देने वाला है। शनिवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत मंडपम पहुंचे विदेशी राष्ट्राध्यक्षों का स्वागत किया। उन्होंने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक को गले लगाया तो अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को भारत मंडपम में बने कोणार्क चक्र के बारे में जानकारी दी।

ब्रिटिश पीएम ऋषि सुनक और उनकी पत्नी अक्षता मूर्ति का स्वागत केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने जय सियाराम के उद्घोष के साथ किया। साथ ही कहा कि ‘हम आपका स्वागत भारत के दामाद के रूप में भी कर रहे हैं।’ इसके बाद सुनक ने कहा कि मुझे गर्व है कि मैं हिंदू हूं।

समिट शुरू होने से पहले G-20 शेरपा अमिताभ कांत ने कहा कि भारत को इस संगठन की अध्यक्षता चुनौतीपूर्ण समय में मिली है। दुनिया आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रही है। कांत ने कहा कि भारत ने महसूस किया कि हमें अपनी अध्यक्षता ‘वसुधैव कुटुंबकम’- दुनिया एक परिवार है की थीम के साथ शुरू करनी चाहिए।

उधर, भारतीय वायुसेना ने चीन-पाकिस्तान बॉर्डर पर चल रही त्रिशूल एक्सरसाइज को रोक दिया है। राफेल, सुखोई, मिग, मिराज और चिनूक जैसे फाइटर्स को G-20 समिट की सुरक्षा में तैनात कर दिया गया है।

पढ़ें :- बारिश के कारण भारत और आयरलैंड के बीच तीसरा और आखिरी टी-20 रद्द
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com