1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. यूपी में दल-बदल की राजनीति उफान पर, स्वामी प्रसाद के बाद योगी के इस मंत्री ने भी दिया इस्तीफ़ा

यूपी में दल-बदल की राजनीति उफान पर, स्वामी प्रसाद के बाद योगी के इस मंत्री ने भी दिया इस्तीफ़ा

प्रदेश में बीते दो दिनों में दो बड़े मंत्रियों का इस्तीफा हो चुका है। जिसके बाद बीजेपी भी इन मंत्रियों को मनाने में जुट गई है।

By Ujjawal Mishra 
Updated Date

UP Assembly Election 2022 : यूपी में जैसे-जैसे चुनाव के दिन नजदीक आ रहे हैं वैसे ही योगी सरकार को जबरदस्त झटका लग रहा है। प्रदेश में इन दिनों दल बदल की राजनीति बिल्कुल उफान पर है। पार्टी के कई बड़े नेता भाजपा का दामन छोड़ साइकिल की सवारी करने निकल पड़े है।

पढ़ें :- UP में 10 मार्च के बाद महिलाओं को सरकारी बसों में मुफ्त यात्रा : CM योगी

दारा सिंह चौहान ने मंत्रिमंडल से दिया इस्तीफा 

हाल ही में स्वामी प्रसाद मौर्य के मंत्रिमंडल से इस्तीफ़े के बाद से अब उत्तर प्रदेश सरकार के एक और कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चौहान ने बुधवार को राज्यपाल को अपना इस्तीफा भेज दिया। बता दें कि दारा सिंह चौहान योगी सरकार में पर्यावरण एवं जंतु उद्यान मंत्री के पद पर मौजूद थे। हालांकि स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद से ही सियासी गलियारों में इस बात की अटकलें तेज हो गई थीं, कि दारा सिंह चौहान भी इस्तीफा दे कर सपा में शामिल हो सकते हैं।

सरकार की उपेक्षा पूर्ण रवैया से आहत हूँ – दारा सिंह चौहान

कैबिनेट मंत्री पद से इस्तीफा भेजने वाले दारा सिंह चौहान ने कहा कि सरकार की पिछड़ों, वंचितों, दलितों, किसानों और बेरोजगार नौजवानों की घोर उपेक्षा पूर्ण रवैया से आहत होकर वह मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछड़ों और दलितों के आरक्षण के मुद्दे पर भी खिलवाड़ किया गया है। उन्होंने राज्यपाल को अपना इस्तीफा देते हुए मंत्रिमंडल के कार्य से खुद को अलग कर लिया है।

रूठो को मानाने में जुटे डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य

प्रदेश में बीते दो दिनों में दो बड़े मंत्रियों का इस्तीफा हो चुका है। जिसके बाद बीजेपी भी इन मंत्रियों को मनाने में जुट गई है। दारा सिंह चौहान के इस्तीफे के ठीक बाद डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य उन्हें मनाने के लिए आगे आए और फैसले पर फिर से विचार करने को कहा।

पढ़ें :- कर्नाटक में बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या के विरोध में मार्च

उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि, परिवार का कोई सदस्य भटक जाये तो दुःख होता है। जाने वाले आदरणीय महानुभावों को मैं बस यही आग्रह करूँगा कि डूबती हुई नांव पर सवार होनें से नुकसान उनका ही होगा। बड़े भाई श्री दारा सिंह जी आप अपने फैसले पर पुनर्विचार करिये।

स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी

योगी मंत्रिमंडल से इस्तीफ़े के बाद आज स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है। बता दें कि साल 2014 में स्वामी प्रसाद ने देवी देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। 24 जनवरी तक कोर्ट ने उन्हें पेश होने का आदेश दिया है।

पढ़ें :- खीरी : ईवीएम में फेवीक्विक लगाने के मामले में दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...