1. हिन्दी समाचार
  2. खेल
  3. Commonwealth Games : हाईकोर्ट का आग्रह- कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए कोटा बढ़ाए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन

Commonwealth Games : हाईकोर्ट का आग्रह- कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए कोटा बढ़ाए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन

दिल्ली हाईकोर्ट ने इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) से आग्रह किया है कि वो ऊंची कूद में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाने वाले तेजस्विन शंकर और चार अन्य एथलीटों को आगामी कॉमनवेल्थ गेम्स में भेजने के लिए कोटा बढ़ाए।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 24 जून। दिल्ली हाईकोर्ट ने इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) से आग्रह किया है कि वो ऊंची कूद में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाने वाले तेजस्विन शंकर और चार अन्य एथलीटों को आगामी कॉमनवेल्थ गेम्स में भेजने के लिए कोटा बढ़ाए। जस्टिस जसमीत सिंह की बेंच ने इस मामले पर अगली सुनवाई 4 जुलाई को करने का आदेश दिया।

पढ़ें :- CWG-2022 : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 में पदक जीतने पर संकेत सरगर को दी बधाई

कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए कोटा बढ़ाए IOA- कोर्ट

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने कोर्ट से कहा कि वो तेजस्विन शंकर और 4 अन्य एथलीटों को कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय दल का हिस्सा बनाना चाहते हैं। लेकिन वो ऐसा तभी कर सकते हैं जब IOA एथलीटों का कोटा बढ़ा दे। एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने कहा कि उसने IOA से आग्रह किया है कि वो कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत का कोटा बढ़ाए। एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने 4 उन एथलीटों के नाम का खुलासा नहीं किया जिनको वो कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय दल का हिस्सा बनाना चाहता है। उसके बाद कोर्ट ने IOA को इस मामले पर अपना पक्ष रखने का निर्देश दिया।

तेजस्विन शंकर की कोर्ट से गुहार

बतादें कि कोर्ट ने 22 जून को एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया को निर्देश दिया था कि तेजस्विन शंकर को आगामी कॉमनवेल्थ गेम्स भेजने पर विचार करें। कोर्ट ने कहा था कि केवल इस आधार पर तेजस्विन शंकर को कॉमनवेल्थ गेम्स में भेजना खारिज नहीं किया जा सकता है कि उसने अंतरर्राज्यीय चैंपियनशिप में हिस्सा नहीं लिया था। तेजस्विन शंकर को चयन समिति ने कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए भारतीय दल का हिस्सा नहीं बनाया था। चयन समिति के इसी फैसले के खिलाफ तेजस्विन शंकर ने दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। याचिका में कहा गया था कि उसे कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए भारतीय दल का हिस्सा सिर्फ इसलिए नहीं बनाया गया, क्योंकि उसने अंतरराज्यीय चैंपियनशिप में हिस्सा नहीं लिया था।

पढ़ें :- Delhi High Court : दिव्यांगों के कल्याण के लिए बनी संवैधानिक संस्थाओं में खाली पदों को लेकर हाई कोर्ट की केंद्र को फटकार

कॉमनवेल्थ गेम्स बर्मिंघम में 22 जुलाई से शुरू

कोर्ट में दाखिल याचिका में कहा गया है कि NCAA चैंपियनशिप में उसने कंसास स्टेट यूनिवर्सिटी का प्रतिनिधित्व करते हुए 2.27 मीटर की ऊंची छलांग लगाई थी। शंकर तेजस्विन ने नेशनल कोच को मैसेज भेजकर कहा था कि वो अंतर्राज्यीय चैंपियनशिप में हिस्सा नहीं लेगा। याचिका में कहा गया है कि कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा ले रहे प्रतिभागियों में तेजस्विन का प्रदर्शन तीसरे स्थान पर है। कॉमनवेल्थ गेम्स बर्मिंघम में 22 जुलाई से शुरू होने वाले हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...