1. हिन्दी समाचार
  2. तकनीक
  3. भारत ने पाकिस्तान में मिसाइल गिरने पर जताया खेद, कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का दिया आदेश

भारत ने पाकिस्तान में मिसाइल गिरने पर जताया खेद, कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का दिया आदेश

रक्षा मंत्रालय ने माना कि तकनीकी खराबी के कारण 9 मार्च को हुई थी आकस्मिक मिसाइल फायरिंग।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 11 मार्च। नियमित रखरखाव के दौरान तकनीकी खराबी के कारण 9 मार्च को हुई आकस्मिक मिसाइल फायरिंग की जांच के लिए भारत सरकार ने उच्चस्तरीय कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश दिया है। पाकिस्तान ने दावा किया था कि भारत की तरफ से दागी गई एक मिसाइल उसके पंजाब प्रांत में गिरी है। रक्षा मंत्रालय ने इस पर गंभीरता से विचार करते हुए कहा है कि ये घटना जहां बेहद खेदजनक है, वहीं राहत की बात ये भी है कि इस हादसे में कोई जनहानि नहीं हुई।

पढ़ें :- अमेरिका में जानलेवा हमले में घायल सलमान रुश्दी सर्जरी के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर

असैन्य इलाकों को कुछ नुकसान हुआ- पाक

दरअसल पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल बाबर इफ्तिखार ने 10 मार्च को दावा किया था कि भारत की तरफ से दागी गई एक मिसाइल 9 मार्च को उसके पंजाब प्रांत में गिरी है। उन्होंने मीडिया से कहा कि 9 मार्च की शाम 6 बजकर 43 मिनट पर एक तेज गति से उड़ने वाली वस्तु ने भारतीय क्षेत्र से उड़ान भरी और वो अपना मार्ग भटक कर पाकिस्तान के क्षेत्र में गिर गई। इससे असैन्य इलाकों को कुछ नुकसान हुआ है, लेकिन इसमें किसी की जान नहीं गई है।

पाकिस्तान ने भारत के दूतावास प्रभारी को तलब कर कड़ा विरोध दर्ज कराया

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता का ये भी कहना था कि 40 हजार फीट की ऊंचाई से गुजर रही मिसाइल को मार गिराया नहीं गया है बल्कि वो खुद ही गिर गई थी। इसके साथ ही पाकिस्तान ने भारत के दूतावास प्रभारी को तलब कर कड़ा विरोध दर्ज कराकर घटना की विस्तृत और पारदर्शी जांच की मांग की थी।

पढ़ें :- शनिवार को 'विभाजन विभीषिका दिवस' मनाएगी भाजपा

भारत पर आए दिन तरह-तरह के आरोप लगाने के आदी पाकिस्तान के इस दावे पर भारत की ओर से इस बारे में कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई। लेकिन शुक्रवार को भारतीय रक्षा मंत्रालय ने इस मामले में जांच बिठा दी है। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि नियमित रखरखाव के दौरान तकनीकी खराबी के कारण 9 मार्च को हुई आकस्मिक मिसाइल फायरिंग की जांच के लिए भारत सरकार ने उच्च स्तरीय कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश दिया है। इस मिसाइल के बारे में पाकिस्तान ने दावा किया था कि भारत की तरफ से दागी गई एक मिसाइल उसके पंजाब प्रांत में गिरी है। रक्षा मंत्रालय ने इस पर गंभीरता से विचार करते हुए कहा है कि ये घटना बेहद खेदजनक है, लेकिन राहत की बात ये है कि इस हादसे में कोई जनहानि नहीं हुई।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...