1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. PoK ‘premier’ Niazi resigns : पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में भी इमरान खान को झटका, PM अब्दुल कय्यूम का इस्तीफा

PoK ‘premier’ Niazi resigns : पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में भी इमरान खान को झटका, PM अब्दुल कय्यूम का इस्तीफा

राष्ट्रपति के सचिव डॉ. आसिफ हुसैन शाह ने नियाजी के इस्तीफे की पुष्टि करते हुए जानकारी दी है कि राष्ट्रपति ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

मुजफ्फराबाद, 15 अप्रैल। पाकिस्तान में सत्ता से बाहर किए गए पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को अब चारों ओर से झटका लग रहा है। पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर में भी उनके सिपहसालार प्रधानमंत्री अब्दुल कय्यूम नियाजी को इस्तीफा देना पड़ा है। दरअसल उनके खिलाफ इमरान की पार्टी के ही विधायक अविश्वास प्रस्ताव ला चुके थे।

पढ़ें :- Ghaziabad News:मनोरंजन का साधन LED टीवी घर मे लाया मातम,TV ब्लास्ट से एक युवक की मौत तीन अन्य घायल

25 विधायकों ने नियाजी को हटाने के लिए अविश्वास प्रस्ताव पेश किया

पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर (PoK) में इस समय इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इस्लाम (PTI) की सरकार है। पिछले साल यहां हुए चुनाव में 53 में से 32 सीटें PTI ने जीती थीं। तब PTI के नेता अब्दुल कय्यूम खान नियाजी यहां प्रधानमंत्री बने थे। पाकिस्तान में इमरान का किला ढहने के बाद अब पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में भी इमरान के करीबी प्रधानमंत्री के खिलाफ बगावत शुरू हो गई है। पार्टी के 32 में से 25 विधायकों ने नियाजी को हटाने के लिए अविश्वास प्रस्ताव पेश किया था।

नियाजी ने PoK राष्ट्रपति को अपना इस्तीफा भेजा

इन हालातों में नियाजी के लिए सरकार बचाना कठिन हो गया था। इस पर नियाजी ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के राष्ट्रपति सुल्सान मोहम्मद चौधरी को अपना इस्तीफा भेज दिया है। उन्होंने संविधान के अनुच्छेद 16 (1) के तहत प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देने की बात की है।

पढ़ें :- मुंबई के इतिहास में आज ठाकरे और शिंदे गुट की अलग-अलग दशहरा रैली, दोनों का पहला शक्ति प्रदर्शन

बतादें कि राष्ट्रपति के सचिव डॉ. आसिफ हुसैन शाह ने नियाजी के इस्तीफे की पुष्टि करते हुए जानकारी दी है कि राष्ट्रपति ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। इससे पहले नियाज़ी ने अविस्वास प्रस्ताव में उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों को निराधार करार दिया था। इन स्थितियों को इमरान की पराजय के रूप में देखा जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...