Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. सूडान में अब तक भारतीय समेत 400 से ज्यादा की मौत

सूडान में अब तक भारतीय समेत 400 से ज्यादा की मौत

सूडान में इस वक्त गृहयुद्ध जारी है ऐसे में कई भारतीय वहां पर फंसे हुए है जिनको निकालने की कोशिश भारत द्वारा की जा रही है पीएम ने भी हाईलेवल मीटिंग बुलाई है.

By Avnish 

Updated Date

सूडान में कई दिनों से गृहयुद्ध जारी है ऐसे में लगातार वहां के हालात बिगड़ते जा रहे है, सूडान में सेना और अर्धसैनिक रैपिड सपोर्ट फोर्स की बीच जंग हो रही है और इस जंग का सामना और किसी को नहीं बल्कि वहां के आम नागरीक को करना प़ड़ रहा है बात की जाए विश्व स्वास्थ्य संगठन के रिपोर्ट की तो अभी तक वहां पर तकरीबन 413 लोगों की मौत हो चुकी है इन लोगों में बच्चे भी शामिल है बात यहीं खत्म नहीं होती है 50 से ज्यादा लोग इसमें घायल भी हुए है. सूडान में इस वक्त कई भारतीय भी फंसे हुए है जिनको निकालने के लिए केंद्र सरकार अलर्ट पर है और एक्शन प्लान भी तैयार किया गया है. इंडियन एयरफोर्स के दो विमान जेद्दाह में इस वक्त स्टैंडबाय पर है तो वहीं आईएनएस सुमेधा भी सूडान के बंदरगाह पर पहुंचा है.

पढ़ें :- अभिनेत्री दीप्ति नवल ने मस्जिद विवाद पर दिया चौकाने वाला बयान, कहा – उन्हें पुराना मंदिर ही पसंद था

 

सूडान में अभी तक क्या स्थिती है?

WHO ने बताया है कि जो युद्ध चल रहा है उसमें सबसे ज्यादा नुकसान हेल्थ सेक्टर को पहुंचा है 20 से ज्यादा अस्पताल अभी तक बंद कर दिए गए है तो वहीं एक दर्जन से ज्यादा अस्पताल ऐसे है जिसको बंद करने की नौबत आ गई है साथ में यह भी कहा गया है कि आखिर यहीं स्थिती रहेगी तो यहां युद्ध में घायल लोगों का इलाज कहां कराया जाएगा यानि की कुल मिलाकर सूडान में इस वक्त स्थिती भयावह है.

 

पढ़ें :- UP : अज्ञात कारणों के चलते BSNL टॉवर के कर्मचारी ने लगाई फ़ासी, परिजनों में कोहराम

सूडान में क्यों हो रहा है युद्ध

जानकारी दे दे कि अक्टूबर 2021 में नागरिकों और सेना की संयुक्त सरकार का तख्तापलट हुआ था इसके बाद से ही सेना और अद्धसैनिक बलों के बीच यह तनाव का माहौल पैदा हुआ है, बात की जाए तो सेना के चीफ जनरल अब्देल फतेह अल बुरहान के हाथों में है तो वहीं आरएसएफ की कमान हमदान दगालो के पास है. जानकारी दे दे कि एक सॉवरेन काउंसिल के ही जरिए सेना और आरएसएफ मिलकर देश को चला रहे थे लेकिन हालि में आरएसएफ के जवानों को सेना में अपने लिए खतरा माना और फिर यह व्यवस्था को बदल लिया इसके बाद नई व्यवस्था शुरू की जिससे की आरएसएफ के जवानों के अंदर आक्रोश भर गया और यह मामला धीरे-धीरे हिंसा का रूप ले लिया है.

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com