1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. विधायक सरयू के निशाने पर आए बन्ना गुप्ता, विवाद के बाद बन्ना गुप्ता ने कहा नहीं चाहिए प्रोत्साहन राशि

विधायक सरयू के निशाने पर आए बन्ना गुप्ता, विवाद के बाद बन्ना गुप्ता ने कहा नहीं चाहिए प्रोत्साहन राशि

सरयू के लेटर बम से गरमाई झारखंड की सियासत, निशाने पर बन्ना गुप्ता, विधायक सरयू राय के निशाने पर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची, 15 अप्रैल। झारखंड में शुक्रवार को राजनीतिक माहौल गर्म रहा। सरयू राय व राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के बीच दिनभर आरोप व प्रत्यारोप का दौर चलता रहा। लेकिन कल देर शाम फैसला आया कि बन्ना गुप्ता (स्वास्थ्य मंत्री) सहित उनके कोषांग के 60 कर्मियों को भी कोरोना प्रोत्साहन राशि नहीं मिलेगी। मंत्री के कहने पर स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को उस आदेश को रद कर दिया, जिसके तहत मंत्री, उनके आप्त सचिवों, मंत्री के कोषांग के कर्मियों और अंगरक्षकों को कोरोना प्रोत्साहन राशि देने की स्वीकृति दी गई थी।

पढ़ें :- कोरोना काल में बदले नियमों से कुछ कंपनियों को ही मिल रहा फायदा, स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने जताई आपत्ति

झारखंड में सरयू राय एक बार फिर उफान पर हैं। राज्य की राजनीति के चाणक्य कहे जाने वाले विधायक सरयू राय के निशाने पर इस बार राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता हैं। सरयू राय ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखकर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता पर गंभीर आरोप लगाये हैं। उनके इस पत्र के बाद सियासी बयानबाजी तेज हो गई है। मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा ने तो इसे लेकर मुख्यमंत्री से स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग तक कर दी।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा है कि स्वास्थ्य मंत्री ने खुद और अपने लोगों को प्रोत्साहन राशि दिलवाकर हिंदी की डिक्शनरी में एक नया शब्द ‘बन्ना’ बांट जुड़वाया है। इस सरकार की जो कार्यशैली है, वह पहले किसी सरकार में नहीं दिखी। मुख्यमंत्री इस मामले में बन्ना गुप्ता को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करें और पूरे मामले की जांच हाई कोर्ट के सीटिंग जज या फिर किसी केंद्रीय जांच एजेंसी से करायें।

सरयू राय ने लगाये हैं कई आरोप

जमशेदपुर पूर्वी से विधायक सरयू राय ने अवैध तरीके से प्रोत्साहन राशि लेने को लेकर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को घेरा है। मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर सरयू राय ने कहा है कि राज्य सरकार ने कोरोना काल में बेहतर काम करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों को एक महीने का मूल वेतन प्रोत्साहन राशि के रूप में देने का फैसला किया था, जिसके बाद बेहतर काम करने के लिए स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने स्वयं एक माह का अतिरिक्त वेतन लिया। स्वास्थ्य मंत्री ने प्रोत्साहन राशि खुद तो ले ली, दो सचिवों, निजी सहायकों, आदेश पालकों, आठ वाहन चालकों, चार सफाई कर्मियों और सुरक्षा में लगे 34 अंगरक्षकों समेत 60 लोगों को भी प्रोत्साहन राशि दिलावा दी।

पढ़ें :- झारखंड में कम उम्र के 5.1 फीसदी विद्यार्थी करते हैं तम्बाकू सेवन : बन्ना गुप्ता

इस पर सरकार के कुल 63 लख रुपये खर्च हुए हैं, यह बात अलग है कि मंत्री के शहर जमशेदपुर के एमजीएम अस्पताल में अनुबंध पर काम करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों को आज तक भुगतान नहीं किया गया। सरयू राय ने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है कि वह वह वित्तीय अनियमितता के लिए स्वास्थ्य मंत्री पर तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित करें। इसके अलावा उन्होंने मुख्यमंत्री को स्वास्थ्य मंत्री सहित कोषागार के अन्य कर्मियों द्वारा ली गई अनुचित अवैध प्रोत्साहन राशि की वसूली करने और दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई करने की भी मांग की है।

तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों को जेल की हवा खिला चुके हैं सरयू

सरयू राय के इन आरोपों के बाद स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता कैसे खुद को इन आरोपों की आंच से बचाते हैं यह तो समय बतायेगा पर सरयू राय का पूर्व का रिकार्ड रहा है कि वे अब तक तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों को जेल की हवा खिला चुके हैं। भ्रष्टाचार के मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव, जगन्नाथ मिश्र और झारखंड के मुख्यमंत्री मधु कोड़ा को सलाखों के पीछे पहुंचाने में भी उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। यही नहीं सरयू राय बीते दिनों पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास पर मैनहर्ट घोटाला तथा राज्य स्थापना दिवस समारोह में टॉफी-टीशर्ट बांटने के मामले में हुए घोटाले में उनकी संलिप्तता को लेकर भी आरोप लगा चुके हैं। अब मामले की जांच एसीबी कर रही है।ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा की सरयू राय का लेटर बम झारखंड की राजनीति में क्या गुल खिलाता है और बन्ना गुप्ता कैसे इस मामले में खुद को बचाते हैं।

इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी ने क्या कहा

इससे जुड़ी हमारी डिबेट को देखें –

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...