1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Watch : 44 घंटे से ज्यादा चला भारत के सबसे ऊँचे रोपवे से 47 लोगों को बचाने का रेस्क्यू ऑपरेशन, जानें लोगों ने किसको बताया ज़िम्मेदार

Watch : 44 घंटे से ज्यादा चला भारत के सबसे ऊँचे रोपवे से 47 लोगों को बचाने का रेस्क्यू ऑपरेशन, जानें लोगों ने किसको बताया ज़िम्मेदार

एयरफोर्स के जवानों ने हेलिकॉप्टर से 2500 फीट की ऊंचाई पर पहुंचकर रोप-वे की दो ट्रॉलियों में फंसे सात लोगों को निकाल लिया है। ऊंचाई पर होने की वजह से यह सबसे मुश्किल रेस्क्यू है।

By Akash Singh 
Updated Date

देवघर : देवघर में त्रिकुट पर्वत पर रोप-वे हादसे में फंसे लोगों को एयरफोर्स के जवानों ने हेलिकॉप्टर से 2500 फीट की ऊंचाई पर पहुंचकर ट्रॉलियों में फंसे सभी लोगों को निकाल लिया गया है। इस घटना में कुल 3 लोगों की मौत हो गई है। ऊंचाई पर होने की वजह से यह सबसे मुश्किल रेस्क्यू रहा। इससे पहले दो दिन में 40 लोगों का रेस्क्यू किया जा चुका था। इस संबंध में देवघर के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने बताया कि एयरफोर्स, आईटीबीपी और एनडीआरएफ की टीमों ने सुबह से ही लोगों को एयरलिफ्ट कराया है। जानकारी के अनुसार सेना, वायुसेना, आइटीबीपी और एनडीआरएफ की टीमों ने  रेस्क्यू ऑपरेशन कर हेलिकॉप्टर और रस्सी के सहारे बाहर निकाल लिया। इस रेस्क्यू में सेना के दो हेलीकाप्टर Mi – 17 और Mi – 17 V5 शामिल थे।

पढ़ें :- झारखंड की सैर [ इंडिया वायस विश्लेषण ]

पढ़ें :- क्या टूट जाएगा झारखंड में गठबंधन ? कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर दोनों दलों में नहीं बनी बात!

रेस्क्यू के दौरान दो बार हुआ हादसा

इसी दौरान रेस्क्यू ऑपरेशन के क्रम में सोमवार को एक हादसा हो गया। एक शख्स को ट्रॉली से निकालकर हेलीकॉप्टर के अंदर लिया जा रहा था। तभी शख्स का हाथ छूट गया और वो नीचे खाई में गिर गया। हेलीकॉप्टर से गिरे शख्स की मौत हो गई।

पढ़ें :- झारखंड में पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की सख्ती, सभी अस्पतालों को लगाना होगा क्यू आर कोड वाला डस्टबिन

अंधेरा होने के कारण सोमवार शाम छह बजे रेस्क्यू रोक दिया गया था। जिन लोगों को सुरक्षित निकाला गया है उन सभी को देवघर के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  इसके अलावा आज भी हेलीकाप्टर से रेस्क्यू के दौरान एक महिला 1500 फीट से निचे गिर गई। इस ऑपरेशन में वायुसेना के तीन हेलिकॉप्टर लगाए गए थे। आला अधिकारी मौके पर मौजूद थे। इस हादसे में बचाए गए कुछ लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। इनमें महिलाएं और बच्चियां शामिल हैं। कुछ घायलों को आईसीयू में भी रखा गया है। हादसे में कुल 3 लोगों की मौत हो चुकी है।

कौन-कौन हैं ज़िम्मेदार ?

इस पूरे मामले में रोपवे संचालित करने वाली कंपनी पर सवाल उठाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि पिछले दो महीनों में रोपवे का मेंटेनेंस नहीं हुआ था। रोपवे चलाने का समय सिर्फ 4 बजे तक है लेकिन उसे शाम में 7 बजे तक संचालित किया जा रहा है। वहीँ यह भी बताया जा रहा है कि ये हादसा ओवरलोड की वजह से हुआ। आपको बता दें कि वहां मौके पर रोपवे कंपनी की तरफ से कोई ऐसा इंतजाम पहले से नहीं किया गया था जिसकी सहायता से वहां पर किसी आपातकाल की स्थिति में लोगों को बचाया जा सके। रेस्क्यू कर निकाले गए एक पर्यटक ने बताया कि, गर्मी बहोत ज्यादा थी गला बार-बार सूख रहा था। 24 घंटे तक बैठ के इंतजार करता रहा ऐसा लग रहा था कि अब गिर जाऊँगा कुछ लोगों ने तो वहां पेशाब पी करअपनी जान बचाई। वहां पर फंसे पर्यटकों के पास कोई भी राहत सामग्री नहीं थी।

पढ़ें :- BMW के बाद अब CM हेमंत सोरेन के काफिले में शामिल हुई लैंडरोवर और मर्सिडीज बेंज जैसी गाड़ियां, जानें क्यों खरीदनी पड़ी 18 गाड़ियां

क्या होगी कार्यवाई ?

आपको बता दें इसको लेकर झारखंड हाई कोर्ट ने स्वतः ही संज्ञान लिया है। कोर्ट ने कहा है इस मामले पर 26 अप्रैल को सुनवाई होगी। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और झारखंड सरकार में मंत्री बन्ना गुप्ता ने भी इस मामले में उच्च स्तरीय जांच का आदेश दिया है।

उल्लेखनीय है कि देवघर जिले के त्रिकुट पहाड़ की चोटी पर स्थित रोप-वे के यूटीपी स्टेशन का रोलर रविवार को अचानक टूट गया। इसके बाद रोप-वे की 23 ट्रॉलियां एक झटके में सात फीट नीचे लटक गयीं। सबसे पहले ऊपर की एक ट्रॉली 40 फीट नीचे खाई में गिर गयी, जिसमें पांच लोग सवार थे। स्थानीय लोगों और रोप-वे कर्मियों ने मिलकर उस ट्रॉली में फंसे पांच लोगों को बाहर निकाला। हादसे के दौरान ट्रॉलियों में 48 लोग फंसे थे, जिन्हें रेस्क्यू भारतीय वायुसेना, एनडीआरएफ समेत अर्द्धसैनिक बलों और स्थानीय प्रशासन की टीम सोमवार को दिनभर जुटी रही। और अब सभी लोगों को बाहर निकाल लिया गया है।

पढ़ें :- झारखंड मे सहयोगी दल कांग्रेस ने मॉब लिंचिंग में मारे गये लोगों के परिजनों को नौकरी देने की मांग की
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...