1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. चीनी सेना ने दिखाई अकड़,भारतीय ग्रामीणों को रोका

चीनी सेना ने दिखाई अकड़,भारतीय ग्रामीणों को रोका

चीनी सेना ने फिर से दिखाई अकड़,भारतीय ग्रामीणों को आने-जाने से रोका,लद्दाख के डेमचोक को बताया अपना क्षेत्र

By Ruchi Kumari 
Updated Date

चीन एक बार फिर लद्दाख में अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा. अब पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के नजदीक डेमचोक में भारतीय चरवाहों को चीनी सैनिकों द्वारा रोके जाने की खबर है. चीनी सैनिकों ने डेमचोक इलाका चीन का होने की बात कहकर भारतीय चरवाहों को वहां से जाने और फिर कभी न आने के लिए कहा है.चीन के सैनिकों ने यह हरकत 21 अगस्त को की है. भारतीय सेना ने इस मसले पर चीन से बात की है. पता चला है कि चीन के सैनिकों ने भारतीय चरवाहों को जिस जगह जाने से रोका है वहां पर क्षेत्र के ग्रामीण सदियों से जाते-आते थे और अपने जानवर चराते थे. वह इलाका पूरी तरह से भारत के नियंत्रण में था. लेकिन पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर बने तनाव के बीच पहली बार इस तरह की घटना हुई है.
सैनिकों का नहीं हुआ टकराव
रिपोर्ट के मुताबिक इस इलाके में दोनों सेनाओं के बीच कोई टकराव नहीं हुआ है. बताया जाता है कि इस इलाके में अकसर दोनों ही तरफ की सेनाएं आपत्ति दर्ज करवाती हैं.यह मामला सामने आने के बाद भारतीय सैन्य अधिकारियों ने अपने चीनी समकक्ष से बातचीत की है. जिस इलाके में वाकया हुआ है वह एलएसी पर फ्रिक्शन पॉइंट के पास ही है और यहां 2020 से दोनों ही देशों की सेनाएं तैनात हैं.
मामले के जानकार के व्यक्ति के मुताबिक इस इलाके में ऐसी घटनाएं इसलिए होती हैं क्योंकि यहां एलएसी क्लियर नहीं है और दोनों ही देश अपने-अपने हिसाब से एलएसी मानते हैं. बता दें कि पूर्वी लद्दाख में पहले से ही तनाव की स्थिति बनी हुई है ऐसे में यह नया मामला एक गंभीर मसला है. जून 2020 में गलवान घाटी में हुए टकराव के बाद भारत और चीन के संबंध और बिगड़ गए हैं.
सीमा की स्थिति तय करेगी संबंध : जयशंकर
दूसरी और विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को एक बार फिर कहा कि सीमा की स्थिति से भारत और चीन के संबंधों का निर्धारण होगा. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि संबंध आपसी संवेदनशीलता, आपसी सम्मान और आपसी हित पर आधारित होने चाहिए.

पढ़ें :- UP News:रायबरेली में भीषण सड़क हादसा, 2 ट्रकों में भिड़ंत से ड्राइवर समेत 3 लोगों की मौत

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...