1. हिन्दी समाचार
  2. झारखंड
  3. Jharkhand : पूजा सिंघल के बाद और लोगों पर भी हो सकती है ईडी की कार्यवाई, राजभवन ने दिए थे और भी नाम

Jharkhand : पूजा सिंघल के बाद और लोगों पर भी हो सकती है ईडी की कार्यवाई, राजभवन ने दिए थे और भी नाम

पूजा सिंघल के सीए सुमन कुमार और उसके भाई से ईडी पूछताछ कर रही है पूछताछ में सुमन कुमार ने स्वीकार किया है कि छापेमारी में जो नकदी बरामद हुई वह उसी की है।

By Akash Singh 
Updated Date

रांची : खनन सचिव पूजा सिंघल और उनके अन्य करीबियों पर प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई जारी है। आपको बता दें पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा के अस्पताल पर भी आज प्रवर्तन निदेशालय का छापा पड़ा। इसके अलावा पूरे देश में 11 अलग-अलग जगहों पर भी ईडी की छापेमारी जारी है। इस पूरे प्रकरण में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी पूरी तरह से घिरते नजर आ रहे हैं।

पढ़ें :- झारखंड की सैर [ इंडिया वायस विश्लेषण ]

आपको बता दें ईडी के द्वारा 25 ठिकानों पर रेड मारी गई थी। इस कार्रवाई में पूजा सिंघल के सीए सुमन सिंह के घर भी रेड पड़ी थी। जहां से 19.31 करोड़ कैश मिला जानकारी के मुताबिक पूरी कार्रवाई के दौरान करीब डेढ़ सौ करोड़ की संपत्ति के कागजात भी मिले हैं। ईडी ने पूजा सिंघल के और भी करीबियों के यहां छापेमारी की है। पूजा सिंघल के सीए सुमन कुमार और उसके भाई से ईडी पूछताछ कर रही है पूछताछ में सुमन कुमार ने स्वीकार किया है कि छापेमारी में जो नकदी बरामद हुई वह उसी (सुमन कुमार) की है। हालांकि इतनी नकदी कहां से आई इस बात का कोई जवाब अभी तक उसने नहीं दिया है।

पूजा सिंघल पर इस कार्रवाई की पृष्ठभूमि पहले से ही तैयार थी। केंद्र ने राजभवन से झारखंड राज्य के दागी पुलिस और अन्य अधिकारियों की सूची मांगी थी, जिस के संबंध में 1 महीने पहले राज्य सरकार द्वारा चार अधिकारियों का नाम राजभवन भेजा गया था। जिसमें रांची के dc छवि रंजन ati निदेशक के. श्रीनिवासन भवन निर्माण सचिव सुनील कुमार और मनोज कुमार जैसे नाम शामिल थे। राजभवन ने अपने स्तर से इस सूची में 7 और अधिकारियों के नाम जोड़े, जिसके बाद कुल 11 अधिकारियों की सूची गृह मंत्रालय को भेज दी गई। राजभवन की तरफ से जिन अधिकारियों के नाम जोड़े गए थे जानकारी के मुताबिक उन में सबसे ऊपर पूजा सिंघल का नाम था।  वहीं झारखंड भाजपा के नेता निशिकांत दुबे ने भी ट्वीट कर कहा पूजा – सिंघल IAS के CA ने बड़ा खुलासा किया,झारखंड के कई अधिकारियों के पैसे,ज़मीन,हवाला के साथ कल की ED की कारवाई में लगभग 300 करोड़ की सम्पत्ति मिली,अशोक नगर रॉंची के सभी रजिस्ट्री पिछले 20 साल की जरुर जॉंच होनी चाहिए।

सूत्रों के मुताबिक ईडी की इस कार्रवाई के बाद यह अंदाजा लगाया जा रहा है की अन्य अधिकारियों पर भी जल्दी से जल्दी कार्रवाई हो सकती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...